अखिलेश-प्रियंका पर हमला, योगी सरकार की तारीफ, लखनऊ से अमित शाह ने फूंका चुनावी बिगुल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में चुनाव से पहले केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज लखनऊ दौरे पर पहुंचे हैं। यहां पर उनका स्वागत सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शुक्ला और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने किया. वहीं अमित शाह ने सदस्यता अभियान की शुरुआत करते हुए कहा कि यूपी में 300 पार का संकल्प हमने लिया है। अमित शाह ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार के लिए सत्ता सेवा का जरिया है. उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने यूपी में 90 फीसदी वादों को पूरा कर दिया है. उन्होंने अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि पूछते थे, मंदिर कब बनेगा. अखिलेश जी हमारी सरकार ने नींव रख दी है, जल्द गगनचुंबी इमारत वाला मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। 

उन्होंने डिफेंस एक्सपो ग्राउंड पर 1.50 करोड़ नए सदस्य जोड़ने के अभियान का शुभारंभ किया। शाह ने इस दौरान विपक्ष पर जमकर हमला बोला। कहा कि यहां 2017 से पहले सपा-बसपा का खेल चलता था, इसने उत्तर प्रदेश को बर्बाद कर दिया। कैराना में पलायन हो रहा था। अब किसी की हिम्मत नहीं है, पलायन कराने वाले पलायन कर गए। शाह ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से दो बड़े सवाल किए। पूछा कि 5 साल में विदेश में कितने दिन रहे? कोरोना और बाढ़ के समय आप कहां थे? अखिलेश ने शासन खुद के लिए, परिवार के लिए और अपनी जाति के लिए किया है। कहा कि अखिलेश एंड कंपनी 2014, 2017 में हमें ताने मारती थी कि मंदिर वहीं बनाएंगे, तिथि नहीं बताएंगे। अखिलेश बाबू हमने तो नींव भी बना दी। आप तो 5 हजार रुपए का चंदा देने से भी चूक गए। अखिलेश यादव को मैं याद दिलाता हूं कि आपकी पार्टी की सरकार में निर्दोष रामभक्तों को गोलियों से भून दिया गया था। आज उसी जगह पर रामलला शान के साथ गगनचुंबी मंदिर में विराजमान होने वाले हैं। 

कार्यक्रम में शाह ने सदस्यता अभियान का शुभारंभ किया। इसकी शुरुआत 5 नए लोगों को पार्टी से जोड़कर हुई। इस दौरान श्मेरा परिवार भाजपा परिवारश् गाना भी लांच किया गया। दीपावली के बाद चुनाव तेज होगा। इस अभियान में पूरी ताकत के साथ जुटें। यही आग्रह है कि मोदीजी को एक और मौका दीजिए। योगीजी को फिर से जिताइए। हम उत्तर प्रदेश को नंबर एक बना देंगे। 2024 की नींव डालने का काम यह 2022 का चुनाव करेगा। 2014, 2017 और 2019 में सरकार बनी तो हम यहां इंचार्ज थे। पत्रकारों का फोन आया कि 1.86 करोड़ लोग सदस्य हैं तो फिर सदस्यता अभियान क्यों? चुनाव हमारे लिए सत्ता पाने का जरिया नहीं है, बल्कि अपनी विचारधारा को घर घर ले जाने की बात है। 46 लाख कार्यकर्ता हमारा एक एक परिवार को जोड़ने में लगा है। 

हमारे यहां घोषणा पत्र कोई एनजीओ नहीं बनाता। बल्कि पार्टी का सदस्य, 22 करोड़ की आबादी को जोड़कर बना था। हमने घोषणा पत्र के 90ः वादे पूरे किए हैं। योगीजी चुनाव से पहले इसे 100ः ले जाएंगे। आज रात 12 बजे उत्तर प्रदेश की बच्ची त्योहार में गहने लादकर स्कूटी से निकल जाती है। गैस कनेक्शन देने के समय अखबार वाले मजाक उड़ाते थे, लेकिन मोदी जी के नेतृत्व में हमने 11 करोड़ कनेक्शन दिए। देश के 60 करोड़ लोगों को 5 लाख तक का बीमा दे रहे हैं। अब हर घर में नल से जल की योजना है। इसमें भी हम कामयाब होकर रहेंगे।

उत्तर प्रदेश के बिना भाजपा की सरकार नहीं बन सकती। मोदी दोनों बार जीते हैं तो उसका पूरा सम्मान यहां की जनता को जाता है। दिल्ली का रास्ता लखनऊ होकर जाता है। आपने मोदीजी को जितना दिया तो उसका वे 3 गुना देते हैं। 2017 के पूर्व उत्तर प्रदेश देश की 7वीं अर्थव्यवस्था थी, आज यूपी देश की दूसरे नंबर की अर्थव्यवस्था बन गया है। अखिलेश बाबू आप यूपी का बजट 10 लाख करोड़ रुपए का छोड़कर गए थे। योगी जी ने अंतरिम बजट 21.31 लाख करोड़ रुपए का रखा है। कुछ राजनीतिक पार्टियां ऐसी होती हैं जो हमेशा के लिए समाज सेवा का कार्य करती हैं। कुछ राजनीतिक पार्टियां ऐसी होती हैं जैसे बारिश में मेंढक बाहर आ जाता है, ऐसे चुनावी मेंढक भी चुनाव के समय ही बाहर आते हैं। 

एक बहुत बड़ा परिवर्तन उत्तर प्रदेश में और देश में मोदी और योगी सरकार ने करने का कार्य किया है। आपने दोबारा दो तिहाई बहुमत दिया, मोदी जी ने राम जन्मभूमि का शिलान्यास कर दिया और देखते-देखते आज आसमान को छूने वाला भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बन रहा है। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने कहा हमने जो 5 साल में किया वो सपा-बसपा ने 15 साल में कुछ नहीं किया। धारा 370 हटाने की बात कोई करता था तो लोग बोलते थे कि भाजपा वाले झूठ बोल रहे हैं, लेकिन अमित शाह ने वन, टू और थ्री बोलते हुए कश्मीर को फ्री कर दिया। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि 2014 में किसी ने सोचा नहीं था कि 10 सांसद से हम 73 तक जाएंगे, लेकिन अमित शाह ने ऐसा कर दिखाया।

अब 2022 में भी हम 300 से ज्यादा सीट लेकर आएंगे। अमित शाह का यहां आना ही हमारी जीत का प्रतीक है। प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि अटल ने राजधर्म और नरेंद्र मोदी ने सेवा धर्म सिखाया। बीजेपी सूत्रों के मुताबिक अमित शाह पार्टी नेताओं से चुनावी संबंधित तैयारियों के बारे में चर्चा करेंगे. बताया जा रहा है कि अमित शाह इस बैठक में विधायकों और मंत्रियों के कामकाज का भी फीडबैक लेंगे. इस बैठक के लिए पार्टी ने विधायकों के साथ लोकसभा चुनाव के दौरान जिला प्रभारियों को भी बुलाया है।

 बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को यूपी में बंपर जीत मिली थी, उस दौरान अमित शाह यूपी बीजेपी के प्रभारी महासचिव थे. वहीं 2017 के चुनाव में जब बीजेपी की सरकार बनी, तो अमित शाह पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष थे. ऐसे में 2022 के चुनाव से पहले अमित शाह का यह दौरा काफी अहम है।बीजेपी की इस बैठक में अमित शाह के साथ सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, दिनेश शुक्ला, बीजेपी संगठन प्रभारी राधामोहन सिंह, चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान सहित तमाम बड़े नेता शामिल होंगे।