त्योहारो मे खलल डालने वालों से सख्ती से निपटेगा प्रशासन डीएम

गोंडा । 07 अक्टूबर गुरूवार से प्रारम्भ हो रहे शारदीय नवरात्रि में दुर्गा प्रतिमाओं की स्थापना, दुर्गापूजा आयोजन तथा मूर्ति विसर्जन व दशहरे का शातिपूर्ण आयोजन सम्पन्न कराने को लेकर बुधवार को जिला पंचायत सभागार में केन्द्रीय दुर्गापूजा समिति, मोहर्रम कमेटी व अन्य समितियों के साथ महत्वपूर्ण बैठक का आयोजन हुआ जिसमें जिलाधिकारी व पुलिस अधीक्षक ने स्पष्ट किया कि इस वर्ष दुर्गा पूजा का आयोजन कोविड-19 प्रोटोकाल का सख्ती से अनुपालन सुनिश्चित कराते हुए करया जाएगा।

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि एकदम स्पष्ट शब्दों में कहा कि त्योहारों में खलल डालने की इजाजत किसी भी व्यक्ति को नहीं होगी और यदि कोई व्यक्ति सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास करेगा तो उसकी जगह सिर्फ जेल होगी। उन्हांेंने कहा कि बना प्रशासनिक अनुमति के कोई भी मूर्ति स्थापित नहीं की जाएगी तथा मूर्ति का आकार भी छोटा रखा जाय।

 उन्होंने बताया कि परमीशन के लिए निर्धारित प्रारूप पर आयोजक को सक्षत स्तर पर आवेदन करना होगा जिसमें नगर क्षेत्र के लिए नगर मजिस्टेट तथा ग्रामीण क्षेत्र के लिए सम्बन्धित तहसील के एसडीएम को अधिकृत किया गया है। उन्होंने आयोजकों को यह भी निर्देश दिए हैं कि प्रत्येक पूजा पण्डाल पर आयोजकों द्वारा वालेन्टियर्स तैनात किए जाएगें जिनकी सूची उन्हें प्रशासन व पुलिस को भी उपलब्ध करानी होगी। अफवाह व सौहार्द बिगाड़ने वाले संदेशों के बारे में उन्होंने कहा कि अफवाहों पर कतई ध्यान नहीं देना है तथा ऐसे लोगों को पुलिस द्वारा चिन्हित कर कठोरतम कार्यवाही की जाएगी।

किसी भी प्रकार की सूचना या मदद के लिए कलेक्टेट में 24 घन्टे सक्रिय रहने वाले कन्ट्रोल रूम की स्थापना की जा रही है, इसके साथ ही 102 व 108 एम्बुलेन्स सेवा एवं 112 पुलिस सेवा को भी सख्त निर्देश दिए जा रहे हैं। उन्होने कहा कि विभिन्न समितियों की मांग पर शराब की समस्त की दुकानें व पूजा पंडालों के निकट मांस आदि की बिक्री की दुकानें बंद रखने के आदेश जारी किए जा रहे हैं।पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने कहा कि पूर्व की घटनाओं व खुफिया सूत्रों से प्राप्त सूचनाओं के आधार पर उपद्रवियों का चिन्हांकन कर थानावार सूची तैयार की जा रही है। पुलिस प्रशासन द्वारा सोशल मीडिया पर कड़ी निगरानी भी की जा रही है। 

बैठक में विभिन्न् समितियों एवं समाज के सम्भ्रान्त जनों ने अपने विचार व सुझाव प्रशासन के सामने रखे जिस पर समयबद्ध कार्यवाही के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को जिलािधकारी व पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्देशित किया गया। बैठक में अपर जिलाधिकारी सुरेश कुमार सोनी, अपर पुलिस अधीक्षक शिवराज, अन्य अधिकारियों सहित सभी थानों के थानाध्यक्षगण उपस्थित रहे।