उत्तरकाशी के हर्षिल-छितकुल लम्खागा के ट्रेक से मिले लापता सात पर्यटकों के शव

उत्तराखंड: उत्तरकाशी के हर्षिल से छितकुल हिमाचल के ट्रेक से लापता पर्यटकों में से सात पर्यटकों को शव मिल गए हैं। बताया जा रहा है कि अभी भी दो पर्यटक लापता चल रहे हैं, जबकि एक घायल पर्यटक का हर्षिल और एक पर्यटक का जिला अस्पताल उत्तरकाशी में इलाज चल रहा है। 9 बिहार रेजीमेंट के कर्नल राजेंद्र प्रसाद ने बताया कि पर्यटकों की खोज के कार्य में वायुसेना और रेस्क्यू टीम युद्धस्तर से जुटी है। रेस्क्यू टीम ने पर्यटकों के शवों को हेलीकॉप्टर की मदद से निकाला है। शवों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। 

जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल व अन्य स्थानों के आठ पर्यटकों का दल मोरी सांकरी की एक ट्रेकिंग एजेंसी के माध्यम से 11 अक्टूबर को हर्षिल से रवाना हुआ था। इस दल में तीन कुकिंग स्टाफ और छह पोर्टर भी शामिल थे। पोर्टर पर्यटकों का सामान छोड़कर 18 अक्टूबर को छितकुल पहुंचे थे। जिसके बाद से ये लापता थे। इनकी खोजबीन में गई टीम को गुरुवार को मौके पर पांच लोगों के शव दिखे थे। जिसके बाद रेस्क्यू टीम ने शुक्रवार को भी अभियान चलाया और वहां से सात शवों को बरामद किया। 

ये थे लापता

लापता लोगों की पहचान दिल्ली की अनीता रावत (38), पश्चिम बंगाल के मिथुन दारी (31), तन्मय तिवारी (30), विकास मकल (33), सौरभ घोष (34), सावियन दास (28), रिचर्ड मंडल (30), सुकेन मांझी (43) के रूप में हुई थी। खाना पकाने वाले कर्मचारियों की पहचान देवेंद्र (37), ज्ञानचंद्र (33) और उपेंद्र (32) के रूप में हुई है। ये तीनों उत्तरकाशी के पुरोला के रहने वाले हैं।