सितंबर में सेंसेक्स का 60 हजारी बनने का कीर्तिमान

अगस्त माह की शेयर बाजार की समीक्षा के अंत में यह कहा गया था कि सितंबर माह के दूसरे पखवाड़े तक कोरोना काल के बावजूद  सेंसेक्स के 60  हजारी बन जाने की पूरी संभावना है। 24 सितंबर को सेंसेक्स ने 60 हजार का बिंदु पार कर के साठ हजारी बनने का कीर्तिमान बनाया। सितंबर महीने में सेंसेक्स ने 3 कीर्तिमान बनाए।  पहला कीर्तिमान 3 सितंबर को 58,000, दूसरा कीर्तिमान 16 सितंबर को 59,000  एवं तीसरा, 60 हजारी बनने का कीर्तिमान 24 सितंबर को बनाया।  31 अगस्त को सेंसेक्स 57,552.39 बिंदु पर बंद हुआ था। 30 अगस्त से 3 सितंबर के कारोबारी सप्ताह में सेंसेक्स ने उछाल के दो कीर्तिमान बनाए थे। पहला 31 अगस्त को 57,000 बिंदु को पहली बार पार करने का तथा दूसरा 3 सितंबर को 58,000 बिंदु को पार करने का कीर्तिमान। सेंसेक्स ने ऐसा कीर्तिमान अपने इतिहास में पहली बार बनाया।6  सितंबर से 15 सितंबर तक बाजार में लिवाली और बिकवाली के सौदे सामान्य गति से चलते रहे। 16 सितंबर गुरूवार को बड़ी मात्रा में सौदे होने के कारण सेंसेक्स पहली बार 59,000 का बिंदु पार करने का कीर्तिमान बनाते हुए 59,141.16 बिंदु स्तर पर बंद  हुआ।  18 सितंबर को पूरी दुनिया भर के बाजारों में चीन की अग्रणी रीयल इस्टेट कंपनी एवरग्रेनेड के  भारी कर्जदार हो जाने का  समाचार तेजी से फैला। इस समाचार के शेयर बाजारों में पहुंचते ही सोमवार 20 सितंबर को  निवेशकों द्वारा बड़ी मात्रा में शेयरों की बिक्री करने से भारतीय बाजार में भारी गिरावट आने के कारण सेंसेक्स 59,000 अंक से नीचे गिरकर 58,490.93 पर बंद हुआ। बीएसई का बाजार पूंजीकरण घटकर 255.18 लाख करोड़ रुपये रह गया। इस कारण शेयर निवेशकों को 3.78 लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। किंतु भारतीय शेयर बाजार में चीनी कंपनी के गिरावट का प्रभाव अल्पकालिक रहा। 21 सितंबर को शेयरों की भारी लिवाली के कारण बाजार में पुनरू रौनक आई और सेंसेक्स पुनरू 59,000 बिंदु पार करते हुए 59,005.25 बिंदु पर बंद हुआ। देशी विदेशी निवेशकों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अमेरिका दौरे से बहुत उत्साह था। 23 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अमेरिका के पांच अग्रणी कारपोरेट मुखिया लोगों की भेंट से उत्साहित होकर निवेशकों द्वारा भारी लिवाली की गई फलस्वरूप सेंसेक्स छलांग लगाते हुए 59,885.36 बिंदु तक जा पहुंचा। 24 सितंबर को सेंसेक्स 60,000 बिंदु के पार 60,211 पर खोला गया जो 60,333 बिंदु के उच्चतम स्तर पर जाकर बंद के समय 60,048.47 पर आ गया था। इस सप्ताह में आए उछाल का श्रेय बड़े निवेशकों के वर्ग ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को दिया।