US Open 2021: धुरंधरों को हराकर क्वार्टरफाइनल में पहुंची लेलाह फर्नांडीज

यूएस ओपन ग्रैंड स्लैम में उलटफेर का दौर जारी है। महिलाओं के एकल स्पर्धा में 18 वर्षीय लेलाह फर्नांडेज ने एक बार फिर से बड़ा उलटफेर किया है। लेलाह ने इस बार पूर्व चैंपियन और 16वीं रैंकिंग वाली एंजेलिक कर्बर को हराकर बाहर किया। बाएं हाथ की युवा कनाडाई खिलाड़ी ने कर्बर को 4-6, 7-6 (5), 6-2 से हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश किया। क्वार्टरफाइनल में लेलाह के सामने एलीना स्वितोलिना की चुनौती होगी। स्वितोलिना ने अंतिम 16 राउंड में सिमोना हालेप को 6-3, 6-3 से हराया।

महिला एकल के अन्य मुकाबले में फ्रेंच ओपन की उपविजेता अनास्तासिजा पाव्लुचेंकोवा दस साल बाद साल के आखिरी ग्रैंडस्लैम के अंतिम-16 में पहुंचने में सफल रहीं। रूस की पाव्लुचेंकोवा ने हमवतन वरवरा ग्रेचेवा को 6-1, 6-4 से हराया। अगले दौर में पाव्लुचेंकोवा की टक्कर कैरोलिना प्लिस्कोवा से होगी, जिन्होंने अजला तोमलजानोविच को 6-3, 6-3 से मात दी। 2019 की चैंपियन बियांका आंद्रिस्कू ने ग्रीट मिन्नेन को 6-1, 6-2 से हारकर यहां लगातार दसवीं जीत दर्ज की। बियांका ने यूएस ओपन में अभी तक एक भी मैच नहीं हारा है। अब क्वार्टरफाइनल में वह मारिया सक्कारी से भिड़ेंगी।

दूसरी वरीय आर्यना सबलेंका ने शानदार प्रदर्शन करते हुए चौथे दौर का मुकाबला जीत लिया है। सबलेंका ने एलिस मर्टेन्स को 6-4, 6-1 से हराकर पहली बार यूएस ओपन के क्वार्टरफाइनल में जगह बनाई है।

महिलाओं के अलावा पुरुषों के एकल स्पर्धा में भी उलटफेर हुआ है। स्पेन के 18 वर्षीय कार्लोस अलकारेज का शानदार प्रदर्शन जारी है। उन्होंने पीटर गोजोक्जिक को हराकर क्वार्टरफाइनल में प्रवेश कर लिया। कार्लोस 1990 के बाद किसी ग्रैंडस्लैम के क्वार्टरफाइनल में पहुंचने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले माइकल चांग 1990 में 17 साल की उम्र में फ्रेंच ओपन के क्वार्टरफाइनल में पहुंचे थे। कार्लोस के सामने अब 12वीं वरीय फेलिक्स ऑगर की चुनौती होगी। 

इटली के जानिक सिनेर और माटियो बेरेटिनी भी चौथे दौर में पहुंच गए। यह टूर्नामेंट के 140 साल के इतिहास में पहला मौका है जब इटली के दो खिलाड़ी अंतिम-16 में पहुंचे। सिनेर ने तीन घंटे 41 मिनट तक चले मुकाबले में 17वें नंबर के खिलाड़ी गेल मोनफिल्स को 7-6, 6-2, 4-6, 4-6, 6-2 से उलटफेर का शिकार बनाकर पहली बार चौथे दौर में जगह बनाई। अब उनका सामना ओलंपिक चैंपियन अलेक्जेंडर ज्वेरेव से होगा। ज्वेरेव अमेरिका के जैस सोक के मुकाबले से हटने से आगे बढे़। सोक ने जब मैच छोड़ा तब ज्वेरेव 3-6, 6-2, 6-3, 2-1 से आगे चल रहे थे। बेरेटिनी ने एल्लया इवाश्का को 6-7, 6-2, 6-4, 2-6, 6-3 से हराकर लगातार तीसरे साल प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। बेरेटिनी की भिड़ंत अब अस्कर ओट्टे से होगी जिन्होंने आंद्रेस सेप्पी को 6-3, 6-4, 2-6, 7-5 से मात दी।

भारत के रोहन बोपन्ना और उनके क्रोएशियाई जोड़ीदार इवान डोडिग प्रीक्वार्टर फाइनल में पहुंच गए। बोपन्ना-इवान ने मोनाको के ह्यूगो नेस और फ्रांस के आर्थर रिंडरनेच की जोड़ी को एक घंटे 56 मिनट तक चले मुकाबले में 6-3, 4-6, 6-4 से पराजित किया। अब इस जोड़ी का सामना चौथी वरीयता प्राप्त अमेरिका के राजीव राम और ब्रिटेन की जो सैलिसबरी की जोड़ी से होगा। बोपन्ना टूर्नामेंट में एकमात्र भारतीय चुनौती हैं।