T-20 World Cup: सौरव गांगुली ने बताया, धोनी को क्यों बनाया गया विश्व कप टीम का मेंटोर

बीसीसीआई चयनकर्ताओं ने हाल ही में टी-20 विश्व कप के लिए टीम इंडिया का एलान किया। चार साल बाद भारतीय टीम में अश्विन की वापसी, शिखर धवन और युजवेंद्र चहल को 15 सदस्यीय टीम में जगह न मिलना चर्चा का विषय रहा। इसके बावजूद भा्रत की वर्ल्ड कप टीम में पूर्व कप्तान एमएस धोनी की मेंटोर के तौर पर वापसी हुई। माही के टीम से जुड़ने के बाद उन पर देने वाले दो धड़ों में बंट गए। धोनी की टीम इंडिया का मेंटोर क्यों बनाया गया है अब इस मामले पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने बयान दिया है। 

यह पहली बार है जब महेंद्र सिंह धोनी संन्यास लेने के बाद टीम इंडिया से जुड़े हैं। बीते साल 15 अगस्त को उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था। उन्होंने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच 2019 क्रिकेट विश्व कप के दौरान न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल खेला था। धोनी को विश्व कप टीम का मेंटोर बनाने के बाद ज्यादातर उनकी चर्चा की जा रही है। वहीं, पूर्व कप्तान और वर्तमान बीसीसीआर्ई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने खुलासा किया है कि धोनी की टीम का मेंटोर बनाने का निर्णय क्यों लिया गया। 

सौरव गांगुली ने मीडिया से बात करते हुए कहा, यह सिर्फ विश्व कप में टीम की मदद करने के लिए है, माही का टी-20 रिकॉर्ड भारत और चेन्नई सुपर किंग्स के लिए शानदार है, इसके पीछे काफी सोच विचार किया गया है, हमने काफी चर्चा की और फिर धोनी को शामिल करने का फैसला किया, हमने 2013 से आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीती है। 

भारत करीब आठ वर्षों से कई आईसीसी ट्रॉफी नहीं जीत पाया है। भारत ने साल 2013 में अंतिम बार आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जीती थी। इसके बाद धोनी दुनिया के पहले कप्तान बने थे जिन्होंने 20 ओवर का विश्व कप, 50 ओवर का विश्व कप जीतने के अलावा चैंपियंस ट्रॉफी भी जीती। गांगुली ने धोनी की नियुक्ति की तुलना 2019 विश्व कप के दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम के साथ स्टीव वॉ की समान भूमिका से करते हुए कहा, माही का विशाल क्रिकेट ज्ञान और अनुभव टीम की मदद करने का वादा करता है। बीसीसीआई प्रमुख ने आगे कहा, याद रखें कि ऑस्ट्रेलिया में स्टीव वॉ भी इसी तरह की भूमिका में थे, जब उन्होंने पिछली बार इंग्लैंड में एशेज 2-2 से ड्रॉ किया था। बड़े-बड़े इवेंट में ऐसे दिग्गजों की मौजूदगी हमेशा मददगार होती है।