केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने NRA CET को लेकर किया यह ऐलान

केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने गुरुवार को कहा कि सिविल सेवा परीक्षा के लिए लद्दाख का अपना विशेष केंद्र होगा और अगले वर्ष आयोजित की जाने वाली सामान्य पात्रता परीक्षा ( NRA CET ) के लिए लेह और कारगिल में दो परीक्षा केंद्र होंगे। डॉ. सिंह ने लद्दाख के अधिकारियों के लिए क्षमता निर्माण पर दो दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन करते हुए कहा कि पांच अगस्त, 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जो ऐतिहासिक निर्णय लिया था वह लद्दाख में सभी प्रकार की नयी संभावनओं के द्वार खोलेगा।

एक आधिकारिक बयान में उनके हवाले से कहा गया “युवा उम्मीदवारों की सुविधा के लिए, लद्दाख में सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करने के लिए अपना विशेष केंद्र होगा, जो लेह में स्थापित किया जाएगा और अगले महीने सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा के आयोजन के साथ यह क्रियाशील हो जाएगा। इसी तरह, हाल ही में गठित राष्ट्रीय भतीर् एजेंसी के माध्यम से आयोजित की जाने वाली  सामान्य पात्रता परीक्षा के लिए  क्रमश: लेह और कारगिल जिलों में एक-एक केंद्र होगा।”

सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा 2021 इस वर्ष 10 अक्टूबर को आयोजित की जाएगी।

उन्होंने  यह भी कहा कि इसरो लेह के पास हनले में स्थित भारतीय खगोलीय वेधशाला में एक नाइट स्काई तारामंडल स्थापित करने पर काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि प्रसिद्ध लद्दाख फल लेह बेरी को बढ़ावा देने, इसे प्रसंस्कृत करने और व्यवसाय करने के लिए सीएसआईआर के पास जल्द ही एक विशेष योजना होगी।

मंत्री ने जम्मू और कश्मीर प्रशासनिक सेवा (जेकेएएस) के वरिष्ठ अधिकारियों के लिए क्षमता निमार्ण कार्यक्रम पर एक अन्य कार्यक्रम में  कहा कि नई संवैधानिक व्यवस्था के अस्तित्व में आने और केंद्र शासित प्रदेश के निमार्ण के बाद, जम्मू - कश्मीर में कई शासन संबंधी सुधार पेश किए गए हैं, जो पहले कभी नहीं थे।

उन्होंने कहा कि केन्द्र के भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम को संशोधित रूप में पिछले वर्ष जम्मू-कश्मीर में लागू किया गया था, जो भ्रष्टाचार को रोकने में  और अधिक प्रभावी होगा।

जानें NRA CET के बारे में खास बातें 

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) सितंबर से सरकारी नौकरियों के लिए अभ्यर्थियों की प्रारंभिक स्क्रीनिंग ऑनलाइन मोड से करेगी।  एनआरए सरकारी क्षेत्र में नौकरियों के लिए योग्य उम्मीदवारों को छांटने के लिहाज से कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) आयोजित करेगा। एनआरए सीईटी के जरिए पहले कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी), रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) और बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) के लिए उम्मीदवारों की स्क्रीनिंग करेगी। अंतिम भर्ती संबंधित एजेंसियों द्वारा की जाएगी। सरकार ने कहा है कि राज्य सरकारें भर्तियों के लिए साझा पात्रता परीक्षा में उम्मीदवारों को मिले अंकों का उपयोग कर सकती हैं।

NRA CET की शुरुआत रेलवे, बैंकिंग और एसएससी की आरंभिक परीक्षाओं को मर्ज करने से होगी। यानी RRB, IBPS और SSC जो भर्ती परीक्षाएं आयोजित करते हैं, उनकी केवल प्रारंभिक परीक्षाएं ( प्रीलिम्स ) एनआरए द्वारा आयोजित की जाएगी। प्रारंभिक परीक्षाओं के बाद की भर्ती प्रक्रिया व परीक्षा के चरण RRB, IBPS और SSC ही संभालेंगे। RRB, IBPS और SSC के बाद धीरे धीरे अन्य भर्ती परीक्षाएं भी इसमें शामिल की जाएंगी। केंद्र की करीब 20 एजेंसियां भर्ती परीक्षाएं आयोजित करती हैं जो चरणबद्ध तरीके से इसमें मर्ज हो जाएंगी।

साल में दो बार परीक्षा :

एनआरए ग्रप बी और ग्रुप सी (गैर-तकनीकी) पदों के लिए उम्‍मीदवारों की स्‍क्रीनिंग करने के लिए एक कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) आयोजित करेगी। एनआरए वर्ष में दो बार ऑनलाइन माध्यम से सीईटी आयोजित करेगा। 

- सब कुछ ऑनलाइन

अभ्यर्थियों का पंजीकरण, रोलनंबर और प्रवेश पत्र जारी होना, अंक पत्र और मेरिट लिस्ट सबकुछ ऑनलाइन जारी किया जाएगा। इसमें किसी तरह के फिजिकल वैरिफिकेशन की जरूरत नहीं होगी। इससे धांधली रोकने में मदद मिलेगी।

- 10वीं-12वीं और स्नातक- तीन स्तर की होगी परीक्षा

राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) द्वारा आयोजित किया जाने वाला कॉमन एलेजिबिलिटी टेस्ट (सीईटी) तीन स्तर का होगा। उम्मीदवार अपनी योग्यता के हिसाब से परीक्षा चुन सकेंगे। कार्मिक मंत्रालय के अनुसार, सीईटी के ये तीन स्तर ग्रेजुएट, इंटर मीडिएट तथा हाईस्कूल तक पढ़े उम्मीदवारों के लिए निर्धारित किए गए हैं। टेस्ट के लिए आवेदन से लेकर प्रवेश पत्र प्राप्त करने की पूरी प्रक्रिया आनलाइन होगी। उम्मीद स्वयं अपना परीक्षा केंद्र चुन सकेंगे।

- परीक्षा में बैठने की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं, तीन साल तक मान्य रहेंगे मार्क्स

सीईटी में उम्मीदवार के बैठने की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं की गई है। यदि कोई राज्य सीईटी के स्कोर से भर्ती करना चाहता है तो उसे यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। सीईटी से समय एवं धन दोनों की बचत होगी। सीईटी मल्टीपल च्वॉइस (बहुविकल्प) प्रश्नों पर आधारित परीक्षा होगी और इसका स्कोरकार्ड तीन वर्षो तक मान्य होगा। 

-12 भाषाओं में होगी सीईटी परीक्षा

कार्मिक सचिव सी. चन्द्रमौली ने बताया कि यह एजेंसी 12 भाषाओं में परीक्षा का आयोजन करेगी। तीन वर्ष तक स्कोर मान्य होगा। इस बीच उम्मीदवार अपने स्कोर में सुधार के लिए आगामी परीक्षा में भी बैठ सकेगा। परीक्षा के प्रश्न एक संयुक्त प्रश्न बैंक से लिए जाएंगे।

- एक तरह के पदों के लिए एक परीक्षा

अलग-अलग विभागों में एक ही तरह के सरकारी पदों के लिए एक ही परीक्षा कराई जाएगी। राष्ट्रीय भर्ती एजेंसी (एनआरए) ग्रुप बी और ग्रुप सी (गैर तकनीकी) पदों के लिये साझा पात्रता परीक्षा के जरिये उम्मीदवारों की छंटनी (स्क्रीनिंग) करेगी। 

ग्रुप-बी और सी वालों को बड़ी राहत

ग्रुप बी और सी की आरंभिक परीक्षा की अर्हताएं एक जैसी होती हैं, लेकिन हर बोर्ड का अलग पैटर्न होने के कारण उम्मीदवारों को अलग-अलग प्रकार से परीक्षा की तैयारी करनी पड़ती है। एक परीक्षा होने से एक ही किस्म की तैयारी करनी होगी।