IND vs ENG: भारतीय बल्लेबाजों के लगातार फ्लॉप होने पर भड़के सुनील गावस्कर

लीड्स के बाद ओवल के मैदान पर भी टीम इंडिया के बल्लेबाजों का निराशाजनक प्रदर्शन जारी रहा। इंग्लिश तेज गेंदबाजों के आगे रोहित शर्मा से लेकर चेतेश्वर पुजारा तक हर कोई अपनी गलती को दोहराते हुए नजर आया। लगातार फ्लॉप शॉ के बाद पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने बल्लेबाजों को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि टीम इंडिया के बैट्समैन बहुत ज्यादा फ्रंट फुट पर होने की वजह से अपना विकेट गंवा रहे हैं। गावस्कर ने कहा कि दिन के आखिर में यह देखा जाता है कि आपने बल्ले से कितने रनों का योगदान दिया है। भारतीय टीम पहली पारी में 191 रन बनाकर ऑलआउट हुई। 

'सोनी स्पोर्ट्स' नेटवर्क के साथ बातचीत करते हुए गावस्कर ने कहा, 'आप देखिए उनको किस लैंथ पर गेंदबाजी की गई और बल्लेबाज ने उसका कहां पर खेला। वह बहुत ज्यादा फ्रंट फुट पर निर्भर नजर आए, यहां से उनके लिए बल्ले को ड्रॉप करना काफी मुश्किल हो जाता है। अगर आप थोड़ा सा भी बैकफुट पर खेल रहे होते हैं तो आप नेनो सेकंड में अपनी कलाई को ड्रॉप करके गेंद से खुद को अलग कर सकते हैं। आप शायद एक बेवकूफ की तरह लगेंगे, लेकिन आप बल्लेबाजी करते रहेंगे। आप चाहे एक बेवकूफ लगे या फिर महान यह कुछ भी स्कोर बुक में नहीं जाता है। वहां सिर्फ आपने कितने रन बनाए वही मैटर करता है। अगर आप पुजारा की तरह बॉल को फॉलो करेंगे वह फ्रंट फुट पर कमिटेड हैं तो आप खुद को परेशानी में डाल लेंगे।'

पहले दिन का खेल खत्म होने तक इंग्लैंड ने 3 विकेट खोकर 53 रन बना लिए हैं। जसप्रीत बुमराह ने इंग्लिश टीम के दोनों ही सलामी बल्लेबाज हसीब हमीद और रोरी बर्न्स को चलता किया। वहीं, उमेश यादव ने सीरीज में 500 से ज्यादा रन बना चुके कप्तान जो रूट को क्लीन बोल्ड करके पवेलियन की रहा दिखाई। इससे पहले टीम इंडिया की ओर से कप्तान विराट कोहली ने अर्धशतक जड़ा, जबकि आखिर में शार्दुल ठाकुर ने ताबड़तोड़ बैटिंग करते हुए महज 31 गेंदों में फिफ्टी ठोककर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे जैसे बल्लेबाजों ने अपने प्रदर्शन से निराश किया। वहीं, ऋषभ पंत का भी इस सीरीज में फ्लॉप शॉ जारी रहा। इंग्लैंड की ओर से क्रिस वोक्स ने चार विकेट झटके।