IND vs ENG: जहीर खान ने इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में इन भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन को बताया सबसे खास

भारत और इंग्लैंड टेस्ट सीरीज का अंत भले ही शानदार ना रहा हूं, लेकिन दोनों टीमों के बीच खेले गए चार मुकाबलों ने टेस्ट क्रिकेट को मानो नया जीवन प्रदान कर दिया है। ट्रेंट ब्रिज हो या फिर लॉर्ड्स या ओवल का मैदान हर मुकाबले में टीम इंडिया की तरफ से नया योद्धा सामने आया, जिसने अपने दम पर टीम की नैया को पार लगाया। लॉर्ड्स में जहां केएल राहुल और मोहम्मद सिराज ने महफिल लूटने का काम किया, तो वहीं ओवल में रोहित शर्मा का राज रहा। और जसप्रीत बुमराह तो इंग्लैंड के हर मैदान पर अपनी छाप छोड़ने में सफल रहे। भारत के पूर्व गेंदबाज जहीर खान ने टीम इंडिया के ऐसे ही पांच खिलाड़ियों के प्रदर्शन को चुना है जिसने उन्हें इस दौरे पर सबसे ज्यादा प्रभावित किया। 

'क्रिकबज' के साथ बातचीत करते हुए पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज ने लॉर्डस में फेंके मोहम्मद सिराज के स्पैल की जमकर तारीफ की। जहीर ने कहा कि सिराज की गेंदबाजी इस पूरे सीरीज में ही शानदार रही, लेकिन लॉर्ड्स में वो जिस इंटेनसिटी से बॉलिंग कर रहे थे वह देखना लायक था और उन्होंने एक अहम भूमिका निभाई। सिराज ने दूसरे टेस्ट मुकाबले की दोनों ही पारियों में चार-चार विकेट अपने नाम किए थे। जहीर ने अपनी लिस्ट में चौथे नंबर पर मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह की ऐतिहासिक साझेदारी की जिक्र किया। पूर्व गेंदबाज ने कहा कि नई गेंद के सामने इंग्लिश तेज गेंदबाजों के खिलाफ बैटिंग करना इन दोनों के लिए आसान नहीं था, लेकिन जिस दिलेरी से शमी-बुमराह ने बल्लेबाजी की उससे इंग्लैंड मैच में पिछड़ गया।

जहीर खान ने रोहित शर्मा की बल्लेबाजी को इस टेस्ट सीरीज का खास पल बताया। उन्होंने कहा कि ओवल में हिटमैन के बल्ले से निकला वो शतक काफी महत्वपूर्ण था। पूर्व तेज गेंदबाज ने कहा कि रोहित पूरी टेस्ट सीरीज में ही बेहतरीन लय में दिखाई दिए और उनको पिच या गेंदबाजों के खिलाफ कोई दिक्कत नहीं हुई। रोहित के बाद जहीर ने जसप्रीत बुमराह के ओवल टेस्ट की चौथी पारी में डाले छह ओवर का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि ड्रॉ की तरफ बढ़ रहे मुकाबले को भारत के इस तेज गेंदबाज ने महज 6 ओवर में दो विकेट चटकाकर पूरी तरह से पलट दिया। जहीर ने केएल राहुल की बल्लेबाजी को नंबर एक पर रखा। उन्होंने कहा कि राहुल ने लॉर्ड्स में शतक ठोककर भारत की जीत की नींव रखी और हर टेस्ट में रोहित शर्मा के साथ मिलकर टीम को अच्छी शुरुआत देने में सफल रहे।