अपने मंत्रिमंडल के लिए नामों को पंजाब के CM चरणजीत ने दिया अंतिम रूप, इन नए चेहरों को मिल सकती है जगह

पंजाब के मुख्‍यमंत्री चरणजीत सिंह चन्‍नी ने अपने मंत्रिमंडल के लिए नामों को अंतिम रूप दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक, चन्‍नी ने राहुल गांधी के साथ मिलकर पंजाब कैबिनेट के मंत्रियों के नाम तय किए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, कैबिनेट को लेकर बातचीत करने के लिए चन्‍नी तीन बार दिल्‍ली पहुंचे थे. बता दें कि सोमवार को चन्‍नी ने मुख्यमंत्री का पदभार संभाला था, उसी के बाद से कैबिनेट गठन की चर्चाएं तेज हो गई थीं. 

आज दोपहर को चन्‍नी राज्‍यपाल बनवारीलाल पुरोहित से मुलाकात कर सकते हैं. माना जा रहा है कि चन्‍नी अपनी कैबिनेट में कुछ मंत्रियों को बदल सकते हैं. खासतौर पर उन्‍हें जिन्‍हें कैप्‍टन अमरिंदर सिंह का समर्थक माना जाता है. रिपोर्ट के अनुसार, कै‍बिनेट में कुछ नए चेहरों को भी जगह मिल सकती है. 

चन्नी के साथ सुखजिंदर सिंह रंधावा और ओम प्रकाश सोनी ने भी उपमुख्‍यमंत्री पद की शपथ ली थी. कांग्रेस के चुनावी गणित को साधने के लिए दोनों ही नेताओं को चुना गया है. अगले साल होने वाले पंजाब चुनाव में अब ज्‍यादा वक्‍त नहीं रह गया है, ऐसे में कांग्रेस फूंक-फूंककर कदम रख रही है. 

पंजाब में पिछले कुछ महीनों से कैप्‍टनअमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के मध्‍य विवाद छिड़ा था, जिसके बाद अमरिंदर सिंह ने मुख्‍यमंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था. बाद में कांग्रेस ने चरणजीत सिंह चन्‍नी को पंजाब का नया मुख्‍यमंत्री बनाया. चन्‍नी को मुख्‍यमंत्री बनाए जाने को लेकर राजनीतिक विश्‍लेषक चुनाव में कांग्रेस का बड़ा दांव मान रहे हैं. चन्‍नी राज्‍य के पहले दलित मुख्‍यमंत्री है. इसे कांग्रेस की राज्‍य के करीब 30 फीसद दलित वर्ग को लुभाने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है.