लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थी को मिलें: जिलाधिकारी

सहारनपुर। जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थी को मिलें। इसके लिए योजनाओं के क्रियान्वयन में पूरी पारदर्शिता बरती जाए। उन्होंने कहा कि योजनाओं को पूरा करने में किसी भी स्तर पर लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। समाज कल्याण विभाग से संबंधित पेंशन प्रपत्रों के अत्याधिक मात्रा में तहसील एवं विकासखण्ड स्तर पर लम्बित होने पर जिला समाज कल्याण अधिकारी के स्पष्टीकरण के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि विभिन्न प्रकार की पेंशन, शादी अनुदान तथा अन्य गरीब कल्याणकारीयोजनाओं में लापरवाही पर कडी कार्यवाही की जाएगी। उन्होने कहा कि अधिकारी आगामी 04 माह का अपना क्षेत्रीय भ्रमण कार्यक्रम तत्काल प्रस्तुत कर क्षेत्रीय भ्रमण करना सुनिश्चित करें। क्षेत्रीय भ्रमण का फोटोयुक्त निरीक्षण नोट भी प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि मुख्यालय पर उपस्थित न मिलने वाले तथा फोन रिसीव न करने वाले अधिकारियों के विरूद्ध कडी कार्यवाही की जाएगी। आई0जी0आर0एस0, मुख्यमंत्री हेल्पलाईन, सम्पूर्ण समाधान दिवस तथा अन्य स्तर पर प्राप्त शिकायतों को गंभीरता से लिया जाए तथा शिकायत के निस्तारण के साथ ही शिकायतकर्ता से फीडबैक भी लिया जाए। 

अखिलेश सिंह ने आज विकासभवन सभागार में विभिन्न लाभार्थीपरक योजनाओं की मासिक समीक्षा के दौरान यह निर्देश दिए। उन्होने कहा कि पेंशन योजना से संबंधित विभाग पात्रों को चिन्हित कर उन्हे लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। पात्र लाभर्थियों को पेंशन योजना का लाभ मिलें इसके लिए प्रक्रिया में तेजी लाएं। उन्होने कहा कि फोन और व्हाटसएप पर दिये गये निर्देशों का भी कडाई से अनुपालन सुनिश्चित किया जाए। उन्होने कहा कि प्रत्येक विभाग गत 4.5 वर्ष की उपलब्धियों की सूचना तैयार रखे तथा प्रतिदिन की जाने वाली कार्यवाही को सूचना में अपडेट करते रहें। उन्होने कहा कि किसान सम्मान निधि में यदि कहीं पर कोई समस्या है तो तत्काल शासन को एक पत्र लिखवाया जाए। किसान सम्मान निधि के पात्र किसानों को शत-प्रतिशत लाभान्वित करना सुनिश्चित किया जाए। 

जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि गलत विद्युत बिल बनाने के कार्य को छोड दें अन्यथा परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहें। उन्होने कहा कि 15 सितम्बर को ग्राम सबदलपुर में कैम्प होगा जिसमें सभी संबंधित अधिकारी अपनी उपस्थिति सुनिश्चित करें। उन्होने निर्देश दिए कि जनपद में स्थापित गौशालाओं के लिए एक राजस्व विभाग का तथा एक स्वास्थ्य विभाग का अधिकारी नोडल अधिकारी नामित किया जाए। उन्होने कहा कि जो ग्राम प्रधान गलत तरीके से गोवंश को गोशालाओं में भिजवाने का प्रयास करता है उसके विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी। उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिए कि सामुदायिक शौचालयों के रख-रखाव के लिए व्यक्ति के चयन के संबंध में शिकायतें प्राप्त हो रहीं है इसको गंभीरता से देखा जाए तथा शासन के निर्देशों के अनुसार ही चयन किया जाए। सामुदायिक शौचालयों पर अच्छी पेंटिंग तथा आस-पास पौधारोपण कर साफ-सफाई रखी जाए। उन्होने कहा कि पंचायत भवनों में प्रत्येक विभाग की योजनाओं तथा हेल्प लाईन नम्बर से संबंधित वॉल पेंटिंग की जाएगी इसलिए संबंधित सभी विभाग अपने-अपने विभाग की योजना तथा हेल्पलाईन नम्बर जिला पंचायत राज अधिकारी को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। 

अखिलेश सिंह ने कहा कि जनपद के कुपोषित बच्चों के चिन्हीकरण के कार्य में तेजी लाई जाए तथा सभी कुपोषित बच्चों को सुपोषित किया जाना सुनिश्चित करें। उन्होने निर्देश दिए कि जनपद में कोई भी पात्र व्यक्ति बिना राशन प्राप्त किए न रहे। इसके लिए सघन अभियान चलाकर अपात्रों का चिन्हीकरण किया जाए और उनके राशन कार्ड निरस्त किए जाएं। उन्होने कहा कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री आवास योजना से आच्छादित लाभार्थियों के आवासों का निर्माण गुणवत्तापूर्ण तथा तेजी से कराया जाए। निवेश मित्र तथा झटपट पोर्टल पर लम्बित आवेदनों का निस्तारण समयबद्ध तरीके से किया जाए।  

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी श्री विजय कुमार, परियोजना निदेशक  देवेन्द्र प्रताप, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी श्री अमित कुमार तथा संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।