दिल्ली मेट्रो के बस स्टैंड कॉरिडोर का उद्घाटन


डीएमआरसी ने कहा कि केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने संयुक्त रूप से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हरी झंडी दिखाकर इस सेक्शन का उद्घाटन किया। करीब एक किलोमीटर के कॉरिडोर का उद्घाटन सड़क संबंधी मुद्दों के कारण एक महीने से अधिक की देरी के बाद हुआ।

4.2 किलोमीटर से अधिक की ग्रे लाइन (द्वारका-नजफगढ़ कॉरिडोर) के इस विस्तार से नजफगढ़ के आसपास के आंतरिक क्षेत्रों के निवासियों को अत्यधिक लाभ होगा, जो इतिहास में डूबा हुआ है। इस मौके पर केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के राज्य मंत्री कौशल किशोर और दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत भी मौजूद थे। लगभग एक किलोमीटर लंबा नजफगढ़-ढांसा बस स्टैंड सेक्शन मेट्रो को नजफगढ़ के आंतरिक क्षेत्रों में ले जाएगा।

स्टेशन तक पहुंचने के रास्ते की समस्या के कारण निर्धारित तारीख से दो दिन पहले इसे स्थगित कर दिया गया था। द्वारका-नजफगढ़ कॉरिडोर अक्टूबर 2019 में खोला गया था, जिसने पहली बार नजफगढ़ के शहरी गांव क्षेत्र को रैपिड ट्रांजिट नेटवर्क से जोड़ा था।

इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली पहुंचने के लिए लोगों को अब फिरनी रोड पार नहीं करना पड़ेगा, इससे करीब 50 गांवों के लोगों को फायदा होगा। वहीं, केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि अभी देश के विभिन्न शहरों में 740 किलोमीटर मेट्रो लाइन पर संचालन हो रहा है और 2022 तक मेट्रो रेल का नेटवर्क 900 किलोमीटर का हो जाएगा। भारत के विभिन्न शहरों में 1,000 किलोमीटर की मेट्रो लाइन निर्माणाधीन है, आने वाले वर्षों में यह कुल 2,000 किलोमीटर के करीब होगी। मेट्रो जैसी अग्रणी परिवहन प्रणाली के साथ, दिल्ली में लंदन, न्यूयॉर्क जैसे विश्व स्तरीय शहर बनने की क्षमता है।