एक्टिव केस फाइंडिंग अभियान के अंतर्गत टीबी रोगियों की खोज करने जेल पहुंची टीम

सहारनपुर। सन 2025 में भारतवर्ष को टीबी मुक्त करने के लक्ष्य की पूरा करने के उदेश्य से महानिदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं उत्तर प्रदेश के निर्देशों के अनुपालन मे पूरे उत्तर प्रदेश मे दिनांक 2 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक चार अलग अलग अभियान चला कर अलग अलग समूहों मे जाकर टीबी के मरीज़ो को खोज जायेगा औऱ प्राइवेट चिकित्स्कों से भी मिला जायेगा जिसके अंतर्गत प्रथम चरण मे जिला कारागार मे जिला क्षय रोग अधिकारी के नेतृत्व मे आज एक टीम जिला कारागार के मेडिकल ऑफिसर डा प्रवीण पुंडीर की देख रेख मे क्षय रोग विभाग के वरिष्ठ क्षय रोग लैब पर्यवेक्षक एम पी सिंह चावला, वरिष्ठ क्षय रोग लैब पर्यवेक्षक, टीबी एच वी संजय कुमार एवं अभिषेक यादव की टीम ने जिला कारागार के सभी तरह के कैदियों की टीबी के लक्षणो के आधार पर स्क्रीनिंग करनी शुरू की एवं संभावित टीबी मरीज़ो के बलगम के नमूने एकत्र किये जिन्हे जाँच के लिए जिला क्षय रोग केंद्र की लैब मे भेजा गया, जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया के ये टीम दिनांक 6 सितंबर तक जिला जेल मे विजिट करेगी इसके अलावा जिले मे अन्य टीमें भी नगर व कस्बे में स्थित अनाथालय, वृद्धआश्रम, नारी निकेतन, बाल संरक्षण गृह, मदरसे, नवोदय विद्यालय आदि में भी टीबी के मरीज़ खोजने जा रही है।