सूक्ष्म व मध्यम उद्योगो के स्थापना हेतु नियमो का होगा सरली करण

कानपुर देहात। जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह की अध्यक्षता में सूक्ष्य लघु एवं मध्यम उद्योगों के स्थापना में सरलीकरण  को लेकर एक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजन किया गया। जिसमें एमएसएमई अधिनियम 2020 के  सरलीकरण के सम्बन्ध में बने नियमों और उनके अनुपालन के सम्बन्ध में चर्चा की गयी। इस अधिनियम का उद्ेश्य है प्रदेश में औद्योगिक गतिविधियों को तीव्र करना, इस अधिनियम के लागू होने के बाद  अब प्रदेश में उद्योग लगाने के लिए आवेदन करने के महज 72 घण्टे के अन्दर विभागों को अनापत्ति प्रमाण पत्र देना होगा, यह अनापत्ति प्रमाण पत्र 1000 दिन तक वैद्य रहेगा साथ ही सामान्य परिस्थितियों में 1000 दिनों तक कोई भी विभाग इन इकाइयों में निरीक्षण नहीं करेगा । आज की इस बैठक में प्रदूषण विभाग एवं विद्युत विभाग द्वारा दो इकाइयों को 72 घंटे के अंदर स्वीकृतियां भी प्रदान की।इस नये एक्ट से एमएसएमई सेक्टर को मजबूती मिलेगी, साथ ही विकास के नये मार्ग प्रशस्त होंगे। इस समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने इस योजना से सम्बन्धित विभागों को निर्देशित किया कि जिन विभागों ने अभी तक एनओसी जारी नही की है वे शीघ्र ही एनओसी जारी करें आगामी भविष्य में 72 घंटे के अंदर एनओसी लेने वाले आवेदक इकाइयों को समया अंतर्गत एनओसी जारी की जाए जिससे इस कार्यक्रम के तहत उद्योगों को गति दी जा सके, कोई विभाग इसमें लापरवाही न करे, उन्होंने डिप्टी कमिश्नर चन्द्रभान सिंह को निर्देशित किया कि जिन विभागों ने एनओसी नही दी है उनसे शीघ्र एनओसी प्राप्त करें, साथ ही इस महत्वपूर्ण अधिनियम के तहत जनपद को मिलने वाले औद्योगिक लाभ को सुनिश्चित करें। इस मौके पर डिप्टी कमिश्नर चन्द्र भान सिंह एवं अन्य अधिकारीगण आदि उपस्थित रहे।।