भर्ती कराने के नाम पर ठगी

 


सेना में भर्ती कराने के नाम पर एक रिटायर्ड फौजी के बेटे और रोजगार सेवक समेत तीन लोगों ने धोखाधड़ी की। बांदा के एक युवक से खाते में ऑनलाइन बीस हजार रुपए ट्रांसफर करवा लिये। उससे और रुपए मांग रहे थे। बांदा के रहने वाले रिटायर्ड फौजी राम बरन यादव के बेटे लवलेश कुमार आर्मी में भर्ती होने के लिए कामटी महाराष्ट्र गया था। वहां पर उसकी मुलाकात बरेली में शाही के बसई गांव निवासी शिवम कुमार पुत्र रिटायर्ड फौजी और बैंक में गार्ड सुरेंद्र से हुई। शिवम ने उसे बताया कि उसकी सेना के अफसरों से काफी पहचान है। वह उसे सेना में भर्ती करा देगा। शिवम ने अपने चचेरे भाई राहुल से उसकी फोन पर बात कराई। राहुल ने उससे कहा कि वह दौड़ निकाल लेगा तो आगे की शारीरिक और मेडिकल परीक्षा पास करवा दी जायेगी। राहुल ने लवलेश को गांव के रोजगार सेवक महेंद्र पाल का बैंक एकाउंट नंबर दिया। उससे 20 हजार रुपये उसमें डलवा दिए।सेना भर्ती के लिये लाखों रुपए दे सकता था। बीस हजार रुपये मांगे जाने पर उसे संदेह हुआ। जिस पर उसने मामले की शिकायत आर्मी इंटेलीजेंस की। वहां से पता लगा कि आरोपियों का मोबाइल नंबर बरेली का है। इसके बाद लवलेश बरेली आर्मी इंटेलीजेंस के अधिकारियों से मिला। उन्होंने उसकी बात सुनने के बाद मामले की जांच पड़ताल की।