॥ नहीं चाहिये गद्दार ॥

राष्ट्र हित के खिलाफ

जो पल रहें हैं गद्दार

उन्हें खदेड़ दो मेरे यार

भेज दो सरहद के पार

हिन्दुस्तान में पल कर

पाक का ले रहा पक्षधर

ऐसे को चिन्हित करो

गद्दारी पर नकेल कसो

मत कर इनकी पैरोकारी

देश से जो करता गद्दारी

देश के दुश्मन है ये

आस्तिन के साँप हैं ये

बाहर करो कोबरा है ये

जिन्दा गॉव में ना दिखे

तुष्टीकरण लाईलाज रोग

बहुत बड़ी लगता है लोग

अमन चैन को बहाल करो

कुमंत्रणा को कुचल डालो

अनीती को समझो मेरे यार

जयचन्द को ढुँढों सब आज

सत्ता से पद्च्युत करो

दुश्मन के घर इन्हें भेजो

भारत देश हमारा है

जो प्रार्णों से भी प्यारा है

आओ नया देश बनायें

शांति अमन का बाग लगायें

हिन्दी हैं हिन्दुस्तान हमारा

ये है जीवन का उद्देश्य हमारा


उदय किशोर साह

मो० पो० जयपुर जिला बाँका बिहार

9546115088