लंग कैंसर के ये बड़े शुरुआती संकेत, शरीर में हो ये बदलाव तो हो जाए सतर्क

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी आज पहले से ज्यादा सामान्य हो गई है। रिपोर्ट की मानें तो भारत में हर चौथा व्यक्ति किसी ना किसी कैंसर की चपेट में हैं। उन्हीं में से एक है लंग्स यानि फेफड़ों में होने वाला कैंसर। लंग्स कैंसर भारत में दूसरा सबसे आम पाया जाने वाला कैंसर हैं। संजय दत्त, युवराज सिंह जैसे कई सेलिब्रिटी भी इसकी चपेट में आ चुके हैं। अगर समय रहते इसका इलाज ना किया जाए तो इससे व्यक्ति की जान भी जा सकती है।

रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में हर साल लंग कैंसर के करीब 67 हजार नए मामले सामने आते हैं, जिनमें 48 हजार से ज्यादा पुरुष और 19 हजार से ज्यादा महिलाएं शामिल होती हैं। ज्यादातर मामलों में लंग्स कैंसर तब तक कोई लक्षण नहीं पैदा करते जब तक वो फैल न जाएं। हालांकि कुछ लोगों में लंग्स कैंसर के शुरुआती लक्षण दिख जाते हैं, जिनके बारे में आज हम आपको बताएंगे।

क्या है फेफड़ों का कैंसर

व्यक्ति की छाती में 2 स्पॉन्जी फेफड़े होते हैं, जो ऑक्सीजन लेने और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ने में मदद करते हैं। जब कैंसर कोशिकाएं इनमें असामान्य रूप से बढ़ती है तो वो अपना काम करना बंद कर देते हैं, जिसे लंग्स कैंसर भी कहा जाका है। लोगों को लगता है कि सिर्फ शराब और सिगरेट पीने से ही कैंसर होता है जबकि ऐसा नहीं है। अनुवांशिक, गलत खान-पान, एक्सरसाइज ना करना, प्रदूषण भी इसका कारण बन सकता है।

चलिए अब जानते हैं लंग्स कैंसर के लक्षण

निरंतर खांसी या खांसी में बदलाव

फेफड़े के कैंसर के शुरुआती लक्षण हल्की खांसी या खून वाली खांसी, सांस लेने में तकलीफ हो सकते हैं। यह इस बात पर निर्भर करता है कि फेफड़े का कौन सा हिस्सा प्रभावित है। जैसे-जैसे कैंसर विकसित होता है ये लक्षण अधिक गंभीर या तीव्र हो सकते हैं। 2 हफ्ते में  0.2ः से ज्यादा खांसी और बलगम निकले तो जांच करवाएं।

हांपना या घरघराहट

बहुत अधिक थक जाना या हांपना, सांस लेने में दिक्कत, वायु मार्ग से घरघराहट की आवाजें आना भी कैंसर का संकेत हो सकता है।

फेफड़ों में सूजन आना

लंग्स में सूजन आना या बंद होना जैसी समस्याएं हो रहा हैं तो बिना देर किए कैंसर एक्सपर्ट को दिखाएं। जरूरी नहीं कि ये कैंसर ही हो, लेकिन हमेशा सुरक्षा रहना बेहतर है।

शरीर में दर्द

सीने, कंधे, पीठ और हड्डी में लगातार दर्द बना हुआ है तो उसे इग्नोर ना करें। ऐसा बढ़े हुए लिम्फ नोड्स के कारण हो सकता है, जो हड्डियों में भी फैल सकता है। 

कर्कश आवाज

अचानक आवाज में बदलाव हो तो बिना देरी चेकअप करवाएं। यह कैंसर के अलावा किसी गंभीर बीमारी का इशारा हो सकता है।

सिरदर्द रहना

सिरदर्द से परेशान है और घरेलू नुस्खे या दवा से भी फर्क नहीं पड़ रहा तो एक बार कैंसर स्पेशलिस्ट से सलाह लें क्योंकि ऐसा लंग्स कैंसर की वजह से हो सकता है।

वजन कम होना

एक्सरसाइज या डाइटिंग के बिना वजन तेजी से कम हो रहा है तो इसे हल्के में ना लें। दरअसल, कैंसर सेल्स उर्जा का इस्तेमाल करते हैं, जिससे वजन भी कम होने लगता है। ऐसे में चेकअप करवाना ही बेहतर होगा।