आरपीएफ जवान ने यात्री की बचाई जान, मौत के मुंह से निकाला बाहर

सहारनपुर । सहारनपुर रेलवे स्टेशन पर आरपीएफ जवान की मुस्तैदी ने एक यात्री को मौत के मुंह से बचाया। चलती ट्रेन में चढ़ने की कोशिश करने पर पैर फिसल गया। जिससे वह ट्रेन के साथ खिसटता चला गया। आरपीएफ जवान की नजर पड़ी तो अपनी जान की परवाह किए बिना यात्री की जान बचाई।गाड़ी संख्या 04673 जयनगर-अमृतसर सरयू एक्सप्रेस प्लेटफार्म नंबर पांच पर स्टॉपेज के बाद ट्रेन रवाना हुई। ट्रेन के कोच में एस-6 सीट पर यात्री मूलचंद सामान लेने प्लेटफार्म पर उतरे हुए थे। जैसे ही उन्हें देखा कि ट्रेन रवाना हो गई तो वह ट्रेन में चढ़ने की कोशिश करने लगे। उनका पैर फिसल गया और ट्रेन के साथ खिसटते चले गए। यात्री का आधा हिस्सा प्लेटफार्म और आधा ट्रेन के बीच में प्लेटफार्म के अंदर था। प्लेटफार्म पर खड़े यात्रियों ने शोर मचाया ,जिसके बाद आरपीएफ के हेड कांस्टेबल जावेद खान ने मुस्तैदी दिखाते हुए दोनों हाथ बगल में देकर उसे ऊपर खींच लिया। इसके बाद ट्रेन रुक गई ,जिससे यात्री को ज्यादा चोटें नहीं आई। बाद में उसी ट्रेन से यात्री को भेज दिया गया।आरपीएफ कांस्टेबल जावेद खान ने बताया कि एक गाड़ी प्लेटफार्म नंबर पांच पर आई तभी गाड़ी चलने के बाद पीछे से यात्रियों की आवाज सुनाई दी एक यात्री गाड़ी पर लटका हुआ है ।जब शोर मचा तो में पीछे की तरफ भागा। देखा एक यात्री विंडो पर दोनों हाथों से पकड़े हुए लटका हुआ था जिसका आधी बॉडी गाड़ी में और आधा बॉडी प्लेटफार्म पर लटका था। मैं उसके पीछे भागा और उसको मैंने दोनों हाथों से उठाकर बाहर खींच लिया।न आरपीएफ निरीक्षक नवीन कुमार ने बताया कि घटना प्लेटफार्म नंबर पांच की है, जहां हेड कांस्टेबल जावेद खान ने यात्री की जान बचाकर सराहनीय कार्य किया है। इनके काम की डिवीजन में रिपोर्ट भेजी जाएगी।