डेंगू से बचाव हेतु लगातार फॉगिंग, छिड़काव इत्यादि करते रहे : जिलाधिकारी

कानपुर देहात : जिलाधिकारी जितेन्द्र प्रताप सिंह ने की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में सर्वप्रथम पोषण पर जानकारी देते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी ने जिलाधिकारी को बताया कि पोषण के तहत दूसरे सप्ताह की शुरूआत हो चुकी है, इसके तहत वजन, गोदभराई, वासिंग जैसे कार्यो की शुरूआत जिगनिस में मा0 राज्यमंत्री अजीत पाल सिंह द्वारा किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि हर सप्ताह का अलग-अलग विवरण उपलब्ध करायें, जिससे इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम के तहत क्या कार्य किये जा रहे उसकी समुचित एवं सव्यवस्थित जानकारी मिल सके। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के बारे में जानकारी देते हुए सीएमएस डा0 राजीव गुप्ता ने बताया कि इसके अन्तर्गत कुल 2582 बच्चों का स्वास्थ्य परीक्षण हुआ, जिसमें से 454 बच्चें बीमार पाये गये, 394 बच्चों का सीएचसी व पीएचसी में उपचार चल रहा है, तथा 25 बच्चों का एनआरसी में उपचार चल रहा है। डा0 झा ने बताया कि 7 सितम्बर से 16 सितम्बर के बीच चल रहे डोर-टू-डोर अभियान के तहत यह पाया गया कि गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण कम हुआ है, जिलाधिकारी ने आदेशित किया कि इनका टीकाकरण शीघ्र-अतिशीघ्र कराया जाये, साथ ही रेडेंमली इसका निरीक्षण अवश्य करते रहे। प्रधानमंत्री मातृत्व  वंदना योजना के अन्तर्गत जिलाधिकारी को सीएमओ डा0 एके सिंह ने अवगत कराया कि जनपद में 1 सितम्बर से 7 सितम्बर तक चलने वाले मातृत्व सप्ताह में सात दिवस के अन्दर जनपद में 1758 प्रथमवार हुई गर्भवती महिलाओं को योजना से जोड़ा गया है। डा0 एसएल वर्मा नोडल अधिकारी ने बताया कि 1 जनवरी 2017 से अब तक जनपद में अब तक कुल 39468 प्रथम वार हुई गर्भवती महिलाओं योजना से जोड़ा जा चुका है। विगत मातृत्व सप्ताह में विभिन्न ब्लाकों द्वारा नये लाभार्थियों को जोड़ने का उत्कृष्ठ कार्य किया गया है। जिलाधिकारी ने इस बात पर असंतोष जताया कि जनपद में केवल 8 हजार गोल्डन कार्ड से लाभ पा रहे है। मुख्य चिकित्साधिकारी ने अवगत कराया कि झींझक में डेंगू के लार्वा मिले है, जिलाधिकारी ने इस पर कहा कि वहां पूरी तरह से सेनेटाइजेशन इत्यादि करा दिया जाये, जिससे नागरिक डेंगू से सुरक्षित रहे। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी सौम्या पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी प्रशासन पंकज वर्मा, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व साहब लाल, सीएमओ डा0 एके सिंह, जिला सूचना अधिकारी नरेन्द्र मोहन आदि अधिकारीगण उपस्थित रहे।