पथरी की समस्या से छुटकारा दिलाएंगे दादी मां के ये नुस्खे

गलत खानपान व लाइफ स्टाइल के कारण शरीर कई समस्याओं व बीमारियों की चपेट में आ जाता है। इनमें पथरी की परेशानी भी एक है। यह किडनी या शरीर के किसी हिस्से में एक पत्थर होता है। इसके कारण मरीज को असहनीय दर्द सहना पड़ता है। समस्या ज्यादा गंभीर होने पर पथरी को सर्जरी द्वारा निकाला जाता है। वहीं छोटी पथरी होने पर इसे कुछ घरेलू उपाय अपनाकर मूत्र मार्ग द्वारा आसानी से निकाला जा सकता है। चलिए आज हम आपको दादी मां के कुछ कारगर उपाय बताते हैं...

आंवला

पथरी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए आंवला बेहद कारगर माना गया है। इसके लिए रोजाना सुबह-शाम 1-1 चम्मच आवंला पाउडर का सेवन करें।

जामुन

जामुन खाने से भी पथरी से छुटकारा मिलता है। इसमें मौजूद पोषक तत्व व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण पथरी से निजात दिलाने के साथ डायबिटीज कंट्रोल करने में भी मदद करते हैं।

अनार का रस

अनार में अन्य पोषक तत्वों के साथ पोटैशियम अधिक होता है। इसका रस यानि जूस पीने से भी पथरी बाहर निकालने में मदद मिलती है। पोटैशियम पथरी के गठन को रोकता है जो गुर्दे की पथरी का कारण होती है। यह गुर्दे से विषैले पदार्थों को बाहर निकालने के साथ यूरिन में अम्लता के स्तर को कम करने में मदद करता है।

इलायची का पानी

इसके लिए एक गिलास पानी में बड़ी इलायची के दानों का 1 छोटा चम्मच मिलाएं। इसमें 1 छोटा चम्मच मिश्री और कुछ खरबूजे के बीज डालकर रातभर भिगोएं। सुबह खाली पेट इस पानी का सेवन करें। साथ ही इसमें पड़ी चीजों को अच्छे से चबाकर खा लें। लगातार कुछ दिनों तक इस उपाय को करने से पथरी की समस्या से आराम मिल जाएगा।

विटामिन सी से भरपूर फल

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, विटामिन सी से भरपूर फलों का सेवन करने से पथरी की समस्या से छुटकारा मिलता है। इनमें मौजूद विटामिन सी शरीर के कोलेस्ट्रॉल को पित्त अम्ल में बदलता है। ऐसे में ये पथरी को तोड़कर बाहर निकालने में मदद करता है। इसके लिए अपनी डेली डाइट में अमरूद, संतरा, नींबू, आंवला, ब्रोकली आदि विटामिन सी युक्त चीजों का सेवन करें।

अधिक मात्रा में पानी पीएं

पथरी की समस्या होने पर इस बात का ध्यान रखें कि ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें। इससे शरीर में मौजूद गंदगी यूरिन द्वारा बाहर आ जाती है। असल में, किडनी शरीर में फिल्टर की तरह काम करती है। बॉडी में पानी की कमी होने पर किडनी कम पानी छानती है। इसके कारण शरीर में मौजूद यूरिक एसिड, कैल्शियम व अन्य विषैले पदार्थ बाहर निकलने में समस्या होती है, जो पथरी का रूप ले लेती है।