कई महीनों के सन्नाटे तोड़ हमें बढ़ना है,नई ऊर्जा संकल्पों से फिर हमें पढ़ना है

सोनभद्र। कोविड के कारण लंबे समय से बन्द चल रहे स्कूल  बुधवार 1 सितंबर से खुल गए हैं।बड़े ही उत्साह के साथ बच्चे विद्यालय में पढ़ने के लिए स्कूल पहुंचे। विद्यालय में बच्चों को पाकर अध्यापक भी काफी प्रसन्न और खुश नजर आए।पहले दिन स्कूल खुलने पर अध्यापकों ने बकायदे स्कूल को सजाया और स्कूल आने बच्चों को टीका लगाकर स्वागत किया।

         स्कूल खुलने से एक तरफ जहां खुशी देखी गई वही डब्लू एच ओ की तीसरी लहर की चेतावनी ने अभिभावकों की चिंताएं भी बड़ा दी है और अभिभावकों ने स्कूल आने वाले बच्चों की जांच की मांग की है। दुद्धी ब्लाक के सभी विद्यालय पूर्व की तरह खोलो गए हैं और विद्यालयों में काफी चहल कदमी देखी गई। प्राथमिक विद्यालय अमवार कॉलोनी के विद्यालय के बच्चों का पढ़ाई में अलग ही नजारा देखने को मिला।जब बच्चे विद्यालय पहुचे तो प्रधानाध्यापक नीरज चतुर्वेदी ने बच्चों को चंदन लगाकर तथा पुष्प वर्षा से स्वागत किया। लंबे समय बाद अध्यापकों को पाकर बच्चों में खुशी की लहर दौड़ गई। प्रधानाध्यापक नीरज चतुर्वेदी ने कहा कि लंबे समय बाद स्कूल खुले हैं और अभी भी कोविड का खतरा टला नही है।ऐसे में काफी सावधानी बरतने के बाद शिक्षण कार्य शुरू की गई हैं। उन्होंने अपने स्वरचित कविता के माध्यम से संदेश दिया कि-नई सुबह होने को आई फिर स्कूल खुले हैं।हंसी खुशी के रंग बरसे हैं अक्षर फूल खिले हैं। कॉपी कलम किताबों संग ही क्लास में रौनक आई।सोशल डिस्टेंसिंग ने हाजिरी नई लगाई।

        खंड शिक्षा अधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि ब्लॉक क्षेत्र के सभी प्राथमिक विद्यालय और उच्च प्राथमिक विद्यालय बच्चों के पढ़ाई के लिए शासन के आदेश खुल गए हैं।कोविड नियमों का पालन करते हुए शिक्षण कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं। उन्होंने अभिभावकों से आग्रह किया है कि अपने बच्चों को कोविड नियमों के प्रति जागरूक करते हुए विद्यालय भेज सकते हैं।