कृषि कानूनों को किसानों के लिए हितकारी बताने वाले सुखबीर सिंह बादल अब झूठे आंसू बहा रहे, सिद्धू का आरोप

चंडीगढ़ : पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सुखबीर सिंह बादल पर हमला बोला है और कृषि कानूनों के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने कहा कि जिस सर्वदलीय बैठक में 10 कृषि कानूनों का प्रस्ताव पास किया गया था, उससे सुखबीर सिंह ने अपना नाम वापस लिया था। नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि बैठक का जो सार जारी किया गया था उसके अनुसार सुखबीर सिंह बादल ने कृषि कानूनों का समर्थन किया था और उसे किसानों के लिए हितकारी बताया था और कहा था कि इस अध्यादेश में कुछ भी गलत नहीं है. बाद में अकाली दल ने राजनीतिक फायदे को देखते हुए किसानों के लिए झूठे आंसू बहाना शुरू कर दिया। जबकि कांग्रेस पार्टी हमेशा से किसानों की हितैषी रही है. वो कांग्रेस पार्टी ही थी जिसने एमएसपी और मंडी शुरू किया. नेशनल फूड सिक्यूरिटी एक्ट लेकर आयी. आम लोगों के लिए जन वितरण प्रणाली लेकर आयी। कांग्रेस लगातार किसान आंदोलन का समर्थन कर रही है, लेकिन दो दिन पहले मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा था कि इस आंदोलन से पंजाब को आर्थिक रूप से नुकसान हो रहा है इसलिए उन्हें पंजाब की बजाय दिल्ली में प्रदर्शन करना चाहिए. गौरतलब है कि कृषि कानूनों के खिलाफ किसान पिछले 9-10 महीनों से आंदोलन कर रहे हैं।