डीजल-पेट्रोल के अवैध कारोबारियों के खिलाफ छापेमारी,


अवैध कारोबार के ठिकानों पर छापेमारी की। करीब तीन घंटे की छापेमारी में पुलिस ने 15 सौ लीटर डीजल पेट्रोल, टैंकर से तेल निकालने के सात उपकरण बरामद किया। पुलिस ने 21 लोगों को हिरासत में लिया है।

इन कम्पनियों के आस पास डीजल पेट्रोल का अवैध कारोबार कुछ।लोग चलाते हैं। जुलाई सन् 2019 में हुई पुलिस की बड़ी कार्रवाई के बाद से डिपो के आसपास तेल का अवैध धंधा बंद हो चुका था। इधर डिपो के आसपास एकबार फिर डीजल-पेट्रोल के अवैध कारोबार के पनपने की प्रशासन को जानकारी मिली थी। शनिवार सुबह 6.15 बजे के करीब डीएम आशुतोष निरंज, एसपी डाॅ. श्रीपति मिश्र के नेतृत्व में पीएसी व जिले के सभी थानों की पुलिस छापेमारी करने पहुंची। पुलिस छापेमारी की भनक लगते ही अवैध कारोबारियों में हड़कंप मच गया।

करीब तीन घंटे तक चली छापेमारी में पुलिस ने डिपो के आसपास के विभिन्न ठिकानों से 1500 लीटर डीजल-पेट्रोल बरामद किया, जो पचास-पचास लीटर के गैलन में भरे गए थे। एक हाते में खड़े टैंकर से तेल निकाला जा रहा था। टैंकर से तेल निकालने के चार बड़े व तीन छोटे उपकरण भी बरामद हुए है। तेरह टैंकर को पुलिस ने कब्जे में लिया है। पुलिस ने 21 लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस के अनुसार छापेमारी के डर से करीब दो हजार लीटर तेल खेतों में बहा दिया गया। इस दौरान एसडीएम सौरभ सिंह, सीओ, कानूनगो अरविंद त्रिपाठी मौजूद रहे।