दीवार के मलबे में दबकर मां की मौत


छप्पर के नीचे सो रहा कुनबा उसके नीचे दब गया। तेज आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे ग्रामीणों ने मलबे के नीचे दबे लोगों को निकालकर अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने एक महिला को मृत घोषित कर दिया। जबकि दो लोगों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।

रात करीब एक बजे छप्पर का मकान भरभरा कर गिर पड़ा। कच्ची दीवार का मलबा दिलीप की पत्नी कमला देवी (43) बेटी अंशू (13) और मोनी (10) के ऊपर गिर पड़ी। तेज आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे पड़ोसियों ने मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला। ग्राम प्रधान ने आनन-फानन में घायलों को प्राइवेट वाहन से जिला अस्पताल पहुंचाया। जहां चिकित्सकों ने कमला को मृत घोषित कर दिया। जबकि घायल आयुषी और मोनी का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। हादसे में दिलीप को भी आंशिक चोटें आई हैं। मलबे के नीचे दबकर हजारों रुपए की गृहस्थी का सामान भी बर्बाद हो गया। घटना के बाद से परिवार में कोहराम मचा हुआ है।