प्रमोद तिवारी का पार्टी के शीर्ष कमेटी मे चयन को लेकर कार्यकर्ताओं मे खुशी की लहर

प्रतापगढ़ : उत्तर-प्रदेश के कांग्रेसी गढ़ माने जाने वाले रामपुरखास मे एक बार फिर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का उत्साह चरम पर आ पहुंचा है। केन्द्रीय कांग्रेस वर्किग कमेटी के सदस्य प्रमोद तिवारी के प्रति कांग्रेस पार्टी हाईकमान का लगातार बढ़ रहा भरोसा यहां कार्यकर्ताओं की खुशी का अहम कारण बना है। पार्टी हाईकमान का दिग्गज प्रमोद तिवारी के प्रति चढता भरोसा यहां के सियासी माहौल को पार्टी के मजबूत कलेवर की रंगत को गाढ़ा कर गया है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव एवं यूपी संगठन की प्रभारी प्रियंका गांधी जिस तरह से वर्ष 2022 के लिए पार्टी का जमीनी रोडमैप खुद तैयार करने मे एवं हर मोर्चे को दुरूस्त करने मे जुटी हुई है।

 ऐसे मे गांधी परिवार की शुरूआती करीबी तथा पार्टी के हर दौर मे जनता के बीच मजबूत पैठ बनाए रखने वाले प्रमोद तिवारी को विधानसभा चुनाव मे पार्टी भी भरोसेमंद चेहरे के रूप मे शीर्ष स्तर पर हर अहम जिम्मेदारी से नवाजती भी जा रही है। हालांकि प्रतापगढ़ के रामपुरखास से दूसरी बार लगातार पार्टी से विधायक बनीं आराधना मिश्रा मोना को कांग्रेस विधानमण्डल दल के नेता जैसी अहम ताजपोशी दस जनपथ मे प्रमोद तिवारी की खुद की सीधी पकड का एहसास करा चुकी है। 

नौ बार पार्टी से लगातार विधायक तथा राज्यसभा मे धारदार भूमिका के प्रमोद तिवारी के अनुभव का सम्भवतः कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व हर जरूरी जगह तेवर के साथ इस्तेमाल करने के मूड मे भी अपना तेवर बयां कर रही है। केन्द्रीय कांग्रेस समिति मे स्थायी सदस्य के रूप मे सोनिया गांधी ने प्रमोद तिवारी को चुनकर यूपी ही नहीं आसपास के राज्यों मे भी प्रमोद तिवारी की वरिष्ठता को तबज्जो दे चुकी है। इसके पहले सोनिया गांधी की ही हां पर यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने प्रमोद तिवारी को प्रदेश की शीर्ष राजनैतिक दिशा का खाका खींचने वाली आउटरीच कमेटी का प्रभारी भी बनाया।

 इस कमेटी का प्रभार प्रमोद तिवारी को सौपने के बाद प्रदेश के बुद्धिजीवी तबके मे जिस तरह से कांग्रेस की नीतियो को समर्थन हासिल हुआ, उससे भी पार्टी को मजबूत फोरम का प्रबद्ध वर्ग मे तेजी से विकल्प भी सामने देखने को मिलने लगा है। प्रमोद तिवारी को लेकर कांग्रेस का भरोसा इसलिए भी यूपी मे लगातार कायम रहा है कि वह पार्टी नेतृत्व के प्रति सदैव सत्तामोह को दरकिनार कर एकनिष्ठ रहे हैं। वहीं जानेमाने कानूनविद होने के नाते भी कई विधायी मोर्चे पर भी प्रमोद तिवारी अपनी पार्टी के संकटमोचन भी साबित हुये है।

 वहीं विधानसभा के लंबे सफर से लेकर राज्यसभा तक सदैव भाजपा को चुभने वाले प्रमोद तिवारी अपने विधायी एवं संसदीय वाककला के कारण भी देश के प्रबुद्ध वर्ग के बीच एक राजनैतिक व्यक्त्वि की पसंद माने जाते है। वहीं उत्तर प्रदेश की जनता के बीच प्रमोद तिवारी का चेहरा साफ सुथरी राजनीति व विकास का भी मजबूत चेहरा माना जाता है। 

यही कारण है कि अभी हाल ही मे प्रमोद तिवारी को इलेक्शन कमेटी का भी पार्टी ने शीर्ष सदस्य चुना है। अब जबकि यूपी विधानसभा का चुनाव करीब है राजनैतिक चर्चा के इस तथ्य को और बल तब देखने को मिला है जब हाल ही मे कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर कांग्रेस के द्वारा तय होने वाले सभी महत्वपूर्ण आयोजनो व वर्षगांठ के पार्टी चेहरे को फोकस करने के लिए ग्यारह सदस्यीय उस शीर्ष कमेटी मे भी प्रमोद तिवारी का चुनाव किया है, जिसमे पूर्व प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह का संयोजन शामिल है। कमेटी की राजनैतिक महत्वतता मे प्रमोद तिवारी का तब मौजूद होना जब इस उच्चस्तरीय कमेटी मे डा. मनमोहन सिंह के साथ प्रमोद तिवारी एवं एके एंटोनी, मीरा कुमार, गुलामनवी आजाद, भूपेंद्र सिंह हुडडा जैसे पार्टी के महत्वपूर्ण चेहरे भी शामिल है। 

हालांकि यूपी चुनाव को लेकर कांग्रेस प्रियंका गांधी की अगुवाई मे पूरी तरह अपने लक्ष्य की तरफ अन्य सियासी दलों की तरह ही गतिशील नजर आ रही है। ऐसे मे यूपी मे कंाग्रेस हाईकमान का प्रमोद तिवारी के प्रति जिम्मेदारियों का बढ़ता यह भरोसा पार्टी कार्यकर्ताओं के उत्साह को निरंतर चढ़ाने की ओर है। वहीं प्रतापगढ़ मे खासकर रामपुरखास के कार्यकर्ताओं तथा प्रमोद तिवारी व आराधना मिश्रा मोना के समर्थको का उत्साह भी सीडब्ल्यूसी मेंबर के साथ, यूपी आउटरीच कमेटी, इलेक्शन कमेटी और अब पूर्व प्रधानमंत्री के संयोजन मे गठित हालिया कमेटी मे प्रमोद तिवारी का पार्टी हाईकमान ने चयन कर कार्यकर्ताओं के बीच दस जनपथ मे प्रमोद तिवारी का फिर बढ़े भरोसे को लेकर उत्साह चार चांद लगाता दिख रहा है। 

नगर पंचायत अध्यक्ष अनीता द्विवेदी, सांगीपुर ब्लाक प्रमुख अशोक सिंह बब्लू, जिपं सदस्य लालजी यादव, रघुनाथ सरोज, लल्लन सिंह, चेयरपर्सन प्रतिनिधि संतोष द्विवेदी, लालदेव सिंह, केडी मिश्र, दृगपाल यादव, सुधाकर पाण्डेय, रामबोध शुक्ल, डा. चंद्रेश सिंह, भुवनेश्वर शुक्ल, रामकृपाल पासी, गोविंद मिश्र, सिंटू मिश्र, रामू मिश्र, त्रिभु तिवारी, अंबुज मिश्र, शास्त्री सौरभ, प्रभात ओझा, भूपेन्द्र तिवारी, आकाश मिश्र, हृदय नारायण मिश्र, सत्येन्द्र सिंह, मुरलीधर तिवारी आदि प्रमोद तिवारी का पूर्व प्रधानमंत्री के संयोजन मे गठित पार्टी की शीर्ष कमेटी मे चयन को लेकर कार्यकर्ताओं के लिए गौरवपूर्ण उपलब्धि कहा है। बकौल मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल समूचा रामपुरखास प्रमोद तिवारी तथा आराधना मिश्रा के प्रति नेतृत्व द्वारा लगातार विश्वास को लेकर सोनिया गांधी व प्रियंका गांधी तथा राहुल गांधी का आभारी है।