साहब ! अतिक्रमण पर भी तो नजर को डालिए यह भले ही दबंग आदमी हो साहब

कोपागंज कस्बे में प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाने को लेकर 3 दिन तक चले अभियान का नेतृत्व ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अजय गौतम ने किया इस दौरान सबसे पहले वह ब्लॉक से लेकर कोपागंज नगर पंचायत क्षेत्र से अतिक्रमण को हटाए लेकिन ब्लॉक से लेकर कोपागंज थाने के बीच   कसारा मोड पर‌ अतिक्रमण पर पता नही साहब की नजर ही क्यों नही टिकी लोगों ने कहा..... साहब भी डरते हैं क्या

कसारा मोड़ पर अतिक्रमण होने के कारण आए दिन जाम की स्थिति बनी रहती है । जबकि एसडीएम, डीएम व अन्य आला अधिकारी का प्रतिदिन इसी सड़क से जाम में होकर निकलते हैं फिर आखिर साहब की नजर क्यों नही पड़ी ,नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी दबंगों के अतिक्रमण को लेकर कुछ नहीं कर पा रहे हैं ,अतिक्रमणकारियो के हौसले इतने बुलन्द हैं कि अधिशासी अधिकारी भी उनसे दो कदम पीछे रहते हैं गरीबों का तो सड़क से अतिक्रमण हटवा दिया गया क्योंकि गरीब व्यक्ति के पास न तो पैसा होता है ना तो दबंगई होती है । लेकिन जब अतिक्रमणकारियों को सदर विधायक मुख्तार अंसारी का आशीर्वाद प्राप्त हो तो किसकी मजाल की वो अतिक्रमण पर आँख भी टिकाएं फिर अधिशासी अधिकारी कोपागंज का  आंख मुदना  बहुत कुछ इशारा करता है  क्योंकि  एक अतिक्रमणकारी दबंग व्यक्ति मुख्तार अंसारी का करीबी है इसलिए साहब का झुकना स्वाभाविक है। अब इस समय प्रशासन के द्वारा अतिक्रमण के खिलाफ चले अभियान में दोहरी नीति लोगों को रास नहीं आ रही है । वही एक तरफ सड़क के किनारे गरीबों का रखे हुए ठेले अतिक्रमण के नाम पर हटा दिया गया गुमतिया के ऊपर लगे टीन सेट नाली के पीछे लगे टीन सेड को हटा दिया गया उसी स्थान पर दबंग एवं मुख्तार अंसारी करीबियों का अतिक्रमण आज तक नहीं हटा पाए। दबंगो पर हाथ लगाने से भी अधिकारी डरते हैं भले वह रोड पर अतिक्रमण करके रखा गया हो लेकिन उनका नाम ही जिले में काफी है।