बीएनआर 420

भारत चुनावों का देश है। यहाँ आए दिन कहीं न कहीं चुनाव होते ही रहते हैं। यही सब देखते हुए मुख्य राजनीतिक दल अभी से अपने हथकंडे आजमा रहे हैं। सभी दलों की सबसे बड़ी समस्या दल-बदलुओं से होती है। चुनाव से पहले यह समस्या महामारी का रूप धारण कर लेती है। कल तक साथ रहने वाला सामने वाले के साथ और सामने वाला अपने साथ हो लेता है। कौन कब कहाँ कैसे और क्यों चला जाए, कुछ नहीं कहा जा सकता।

एक दिन सभी राजनीतिक दल रोबोट बनाने वाली कंपनी पहुँचे। वहाँ रोबोट निर्माता ने उन्हें एक से बढ़कर एक रोबोट दिखाए। एक रोबोट की किस्म का नम बीकेआर 365 था। बीकेआर का मतलब है बुद्धिमान किसान रोबोट। यह साल के 365 दिन किसी प्रकार का धरना नहीं करता। दलों को कतई परेशान नहीं करता। चुपचाप अपना काम करता जाता है। ऊपर से सारे कानूनों का आँख मूँदकर पालन करता है। यह अपने काम पर टिकने वाला है। इसे टिकट की परवाह नहीं होती। इसलिए यह टिकैटी आँसू नहीं रोता। दूसरे किस्म का रोबोट है बीडीआर 108 । बीडीआर का मतलब बुद्धिमान डॉक्टर रोबोट। यह 108 की तरह आपातकालीन सेवाओं के साथ-साथ दल के समर्थन में काम करता है। चाहे मरीज जैसे भी मर जाए ऑक्सीजन की कमी से मौत कतई नहीं बताता।

इतना सुनना था कि सभी दल रोबोट निर्माता की बात बीच में ही काटते हुए बोले, देखिए ये रोबोट तो चुनाव जीतने के बाद काम आयेंगे। अभी हमें चुनाव जिताऊ रोबोट की जरूरत है। आजकल बिना तकनीक के कोई काम नहीं हो रहा है। चुनाव जीतना है तो काम नीक करें न करें तकनीकी रूपी से आगे रहना जरूरी है। सौ बात की एक बात हमें नेता टाइप का रोबोट चाहिए। रोबोट निर्माता ने उन्हें बीएनआर 420 अडवांस तकनीक का रोबोट दिखाया। उसने बताया यह बुद्धिमान नेता रोबोट है। इसकी बुद्धिमानी 420 से भी अडवांस है। आप लोग अपनी-अपनी जरूरतें बताएँ हम उसी हिसाब से इसे कस्टमाइज करके देंगे।

एक नेता ने कहा, जमाना बहुत खराब है। आजकल के लोग बिरयानी और दो हजार रुपए गटक जाते हैं, फिर भी विश्वासपात्र नहीं होते। पता नहीं चलता कि उन्होंने वोट किसे दिया। हमें ऐसे रोबोट की जरूरत है जो हमारे साथ भरोसे के साथ रहे। हमें हमारी कमियाँ और अच्छाइयाँ दोनों बताए। जापान में रोबोट नौकरी कर रहे हैं। कुछ देशों में रोबोट पुलिस बनकर सुरक्षा भी प्रदान कर रहे हैं। ऐसे में बीएनआर 420 रोबोट का होना जरूरी है। रोबोट निर्माता ने उनकी बात से सहमति जताई। फिर कहने लगा, बीएनआर 420 रोबोट में अभी तीन फीचर हैं। एक जनता फीचर। इसे दबाने पर किसी भी दल को कितनी जनता समर्थन कर रही है, पता चलता है। दूसरा फीचर है रैली। इसे दबाने पर रैली में आने वाले जनता की गिनती कर बताता है। तीसरा फीचर है झूठी वाहवाही। इसे दबाने पर यह झूठी वाहवाही करने वाले नेताओं की पोल खोलकर रख देता है।

सभी दलों के नेता बीएनआर 420 रोबोट से बहुत प्रसन्न हुए। वे उसे कस्टमाइज करने के लिए अपनी जरूरतें बताने ही वाले थे कि किसी की लापरवाही से रोबोट का इमरजेंसी बटन दब गया। अचानक से रोबोट बोल उठा, आप हमारे जैसे एक नहीं असंख्य रोबोट ले लीजिए लेकिन जनता रूपी रोबोट के मन की बात का कोई पता नहीं लगा सकता। इतना सुनना था कि नेताओं के चारों खाने चित्त हो गए।

डॉ. सुरेश कुमार मिश्रा ‘उरतृप्त’, चरवाणीः 7386578657