एसिडिटी की समस्या होगी दूर, रोजाना करें ये 4 योगासन

आज की दौड़ती-भागती जिंदगी में हर कोई अपने काम के कारण काफी व्यस्त रहता है। ऐसे में न तो समय पर खाना हो पाता है और न ही समय पर आराम मिल पाता है। इन सब चीजों का बुरा असर हमारे शरीर पर नजर आता है और हमें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी ही एक समस्या है एसिडिटी की। वैसे तो आजकल लगभग हर दूसरा इंसान इस समस्या से जूझ रहा है, लेकिन अगर इसे नजरअंदाज किया जाए तो ये आगे चलकर काफी दिक्कतें खड़ी कर सकती है। वैसे तो इसके लिए दवा लेना जरूरी है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि कुछ योगासन ऐसे भी हैं, जो आपको इस समस्या से निजात पाने में आपकी मदद कर सकते हैं? शायद नहीं, लेकिन ऐसे कुछ योगासन हैं जिन्हें अगर आप रोजाना नियमित रूप से करें तो एसिडिटी ही क्या कई अन्य समस्याओं में भी आपको आराम मिल सकता है। तो चलिए जानते हैं इन योगासन के बारे में।

हलासन

इस योगासन को करने के लिए आपको सबसे पहले जमीन पर लेटना है और फिर अपने दोनों पैरों को नीचे से उठाकर अपने सिर के पीछे की तरफ ले जाना है, साथ ही यहां कुछ समय के लिए रुकना भी है। ऐसा करने से ये आपको एसिडिटी में राहत दिलाने में और वजन घटाने में भी मदद कर सकता है।

कपालभाति

इसे करने के लिए आपको पालथी मारकर बैठना है और अपनी हथेलियों को अपने घुटने पर रखना है। इसके बाद गहरी सांस लेनी है और झटके से सांस को बाहर की तरफ छोड़ना है। इसी दौरान आपको अपने पेट को अंदर की तरफ खींचना है। इस योगासन को करने से आपको एसिडिटी की समस्या में फायदा मिल सकता है। बस आपको इसका अभ्यास रोजाना करना होगा।

भस्त्रिका

इसे करने के लिए आपको एक जगह पर बैठना है और अपनी सांसों पर ध्यान देना है। साथ ही लंबी सांस लेते हुए इसे छोड़ना है। इससे शरीर में रक्त संचार होने में मदद मिलती है, एसिडिटी और अपच जैसी दिक्कतें दूर करने में भी मदद मिलती है।

उष्ट्रासन

इस योगासन को करने के लिए आपको अपने घुटनों पर बैठते हुए पीछे की तरफ झुकना है। फिर अपनी दाहिनी एड़ी को अपने दाहिने हाथ से और बाईं एड़ी को या फिर बाएं हाथ को पकड़ना है। इसके बाद अपने सिर और गर्दन को पीछे की तरफ मोड़ते हुए अपनी कमर को थोड़ा आगे की तरफ करें। इससे आपको पीठ की दिक्कत, नर्वस सिस्टम जैसी चीजों में आराम मिल सकता है।