20 हजार आवेदन में से बनी मेरिट160 ने दिया इस्तीफा


तैनाती मेरिट के आधार पर होगी। ग्राम पंचायतों ने मेरिट तैयार करके भेज दी है। नियुक्ति से पहले जो मेरिट तैयार की गई है उसका एक बार फिर से परीक्षण कराया जाएगा। उधर अगर मेरिट में दो अभ्यर्थियों के अंक बराबर-बराबर आ रहे हैं तो इसमें जिसकी उम्र ज्यादा होगी उसका चयन होगा। पंचायत राज विभाग चयन प्रक्रिया को पूरी करने में जुटा है। ग्राम पंचायतों से पूरा डाटा विभाग को मिल गया है। पंचायत सहायक की नियुक्ति को लेकर वीडियो कान्फ्रेंशिंग के जरिए स्थिति स्पष्ट की गई है।पंचायत सहायक पद पर नियुक्ति के लिए निदेशालय के अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंसिंग की। इसमें बताया गया कि ग्राम पंचायत सदस्य या ग्राम प्रधान का इस्तीफा डीपीआरओ कार्यालय में रिसीव कराया गया तो उसका आवेदन मान्य होगा। शर्त यह है कि उसका इस्तीफा आवेदन से पहले का होना चाहिए। डीपीआरओ ने बताया कि सभी आवेदन पत्रों की जांच हो चुकी है। अब इसमें डीएम के स्तर से जिला स्तरीय अधिकारियों की स्कूटनी कमेटी गठित करेगी। यह कमेटी तैयार की गई मेरिट का परीक्षण करेगी।

जिले में कुल 1165 ग्राम पंचायतें हैं। हर ग्राम पंचायत में एक पंचायत सहायक की भर्ती होनी है, लेकिन इसके मुकाबले जिलेभर में करीब 20 हजार आवेदन हुए हैं। उधर पंचायत सहायक भर्ती के लिए आवेदन को पंचायत सदस्य त्यागपत्र दे चुके हैं। करीब 160 त्यागपत्र विभाग को मिल चुके हैं। 50 से ज्यादा ऐसे मामले हैं जिनमें लगी कोविड की रिपोर्ट पर सवाल उठाए गए हैं।