10वीं 12वीं के लिए सीबीएसई ने बनाया छमाही सिलेबस

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने दसवीं और 12वीं के लिए छमाही सिलेबस तय कर दी है। इसी के हिसाब से कक्षाएं संचालित करनी है। पहली छमाही में 62 कक्षाएं और दूसरी छमाही में 89 कक्षाएं संचालित करनी है। पहली और दूसरी छमाही में तय चैप्टर से ही सवाल पूछे जाएंगे। कोरोना को देखते हुए ऐसा किया गया है। चूंकि नौवीं से 12वीं का सत्र देरी से शुरू हुआ है। इसलिए बच्चों का मानसिक दबाव कम करने के लिए बोर्ड ने यह निर्देश जारी किया है। इसके साथ ही बोर्ड ने हर विषय का यूनिट वाइज चैप्टर और उसके अंक छमाही के हिसाब से विभाजित कर दिया है। इसकी जानकारी स्कूलों को भेज दी गई है। सीबीएसई की वेबसाइट पर भी यह जानकारी उपलब्ध है। 

नौवीं और 11वीं में भी छमाही:  बोर्ड ने 2022 में दसवीं और 12वीं बोर्ड की दो टर्म (छमाही) में परीक्षा लेने का निर्णय लिया गया है। पहली छमाही नवंबर में और दूसरी अप्रैल में ली जाएगी। इसके अलावा नौवीं और 11वीं में भी छमाही परीक्षा ही ली जाएगी। दसवीं और 12वीं के साथ ही नौवीं और 11वीं के सिलेबस को भी छमाही के हिसाब से बांट दिया गया है। 

- पहली छमाही 62 दिन व दूसरी के लिए 89 कक्षाएं होंगी

- कोरोना के कारण बोर्ड ने तैयार किए छमाही के हिसाब से चैप्टर

संयम भारद्वाज, (परीक्षा नियंत्रक, सीबीएसई) ने कहा, 'कोरोना को देखते हुए टर्म वाइज (छमाही) परीक्षा लेने का निर्णय लिया गया है। पहली छमाही स्कूल और दूसरी छमाही बोर्ड द्वारा ली जाएगी। बोर्ड रिजल्ट में दोनों छमाही मिलाकर रिजल्ट तैयार किया जाएगा।'

विद्यार्थियों की सहायता के लिए बोर्ड ने 2021-22 सत्र के लिए परीक्षा के लिए सैंपल पेपर भी जारी कर दिया है। इसे छात्र बोर्ड वेबसाइट पर देख सकते हैं। बोर्ड की मानें तो प्रश्न पत्र का डिजाइन इस बार अलग रहेगा। बोर्ड द्वारा बताए गए यूनिट वाइज चैप्टर को ही स्कूलों को पढ़ाना है। इसके लिए कक्षा का रूटीन स्कूल द्वारा तय किया जायेगा।