UP BEd JEE 2021 : यूपी बीएड प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी

UP BEd JEE Result 2021 : उत्तर प्रदेश संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा 2021 का परिणाम जारी कर दिया गया है। रिजल्ट लखनऊ विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.lkouniv.ac.in पर जाकर चेक किया जा सकता है। लखनऊ के आशु राणा ने परीक्षा में टॉप किया है। टॉप टेन में एक भी महिला अभ्यर्थी नहीं है। दूसरे स्थान पर कुशीनगर के अजाज अहमद और तीसरे नम्बर पर गोरखपुर के अजय गौर रहे। लड़कियों में झांसी की भावना मिश्रा ने टॉप किया जिनकी ओवरऑल रैंक 17 रही। परीक्षा का आयोजन लखनऊ विश्वविद्यालय की ओर से 6 अगस्त को किया गया था। काउंसलिंग की तिथियां जल्द ही जारी की जाएंगी।

सभी परीक्षार्थी लखनऊ विश्वविद्यालय की बेवसाइट पर लॉगिन करके (जहां से अभ्यर्थियों ने अपना आनलाइन आवेदन पत्र भरा था) अपना प्राप्तांक स्टेट रैंक कैटेगरी रैंक प्राप्त कर सकते हैं। 

बीएड प्रवेश परीक्षा के समन्वयक ने बताया कि वर्तमान कोरोना महामारी के चलते परीक्षा का सुरक्षित आयोजन एक बहुत बड़ी चुनौती थी। आयोजक टीम ने इस चुनौती को स्वीकार करते हुए सभी अभ्यर्थियों और परीक्षा कार्य में लगे शिक्षकों / अधिकारियों/ कर्मचारियों के स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुये यह परीक्षा आयोजित करायी। अभ्यर्थियों को अपने जनपद से दूर यात्रा न करनी पड़े इसलिए प्रदेश के समस्त 75 जनपदों में परीक्षा आयोजित करायी गयी। सभी 1476 परीक्षा-केन्द्र को कोरोना संक्रमण से बचाने की पूरी व्यवस्था की गयी थी। परीक्षा के दोनों पालियों के पूर्व प्रत्येक परीक्षा केन्द्र/परीक्षा कक्ष को सैनेटाइज कराया गया व अभ्यर्थियों के बैठने की व्यवस्था सोशल-डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए करायी गयी। 

- परीक्षा के लिए कुल 591305 अभ्यर्थी पंजीकृत हुए जिसमें से 533457 अभ्यर्थी परीक्षा में सम्मिलित हुए। 

- 57848 अभ्यर्थी दोनों पालियों की परीक्षा में अनुपस्थित रहे। 

- कुल 07 अभ्यर्थी अनुचित साधनों का प्रयोग करते हुए पाये गये जिनका परीक्षाफल निरस्त कर दिया गया है। 

- कुल 532207 अभ्यर्थी प्रवेश परीक्षा की दोनों पालियों में सम्मिलित हुए जिनका परिणाम बेवसाइट पर जारी किया गया है। 

- ऑनलाइन ऑफ-कैम्पस काउन्सिलिंग प्रक्रिया की सम्भावित तिथि एवं काउन्सिलिंग सम्बन्धित अन्य सम्पूर्ण विवरण लखनऊ विश्वविद्यालय की वेबसाइट www.lkouniv.ac.in पर जल्द ही जारी कर दिया जायेगा। 

इससे पहले परीक्षा की तारीख में तीन बार परिवर्तन किया गया था। 6 अगस्त से पहले परीक्षा की तिथि पहले 18 जुलाई और फिर 30 जुलाई तय की गई थी। कोरोना संक्रमण के कारण पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 19 मई को परीक्षा का आयोजन नहीं किया जा सका था।