T20 World Cup: गौतम गंभीर ने बताया भारत-पाकिस्तान में से किसका पलड़ा रहेगा भारी

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने टी-20 वर्ल्ड कप के शेड्यूल का ऐलान कर दिया है। भारतीय टीम का सामना पहले ही मुकाबले में चिर प्रतिद्धंद्धी पाकिस्तान से होगा। वर्ल्ड कप में टीम इंडिया का रिकॉर्ड पाकिस्तान के खिलाफ शानदार रहा है और 2019 विश्व कप में भी विराट कोहली की सेना ने पड़ोसी देश को पटखनी दी थी। हालांकि, इस बार फॉर्मेट जरूर दूसरा है, लेकिन भारत के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर का मानना है कि बाबर आजम की टीम के मुकाबले भारत कई गुना मजबूत दिखाई दे रहा है। उन्होंने कहा इस मैच में पाकिस्तान की टीम पर अधिक दबाव भी होगा। 

'स्टार स्पोर्ट्स' के शो 'गेम प्लान' में बातचीत करते हुए गौतम गंभीर ने कहा, 'मुझे लगता है कि इसकी वजह से पाकिस्तान पर और अधिक दबाव होगा क्योंकि भारत का वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ जीत का रिकॉर्ड 5-0 का रहा है। हम इस बारे में बात नहीं कर रहे हैं कि भारत पर प्रेशर होगा, बल्कि पाकिस्तान की टीम पर काफी ज्यादा प्रेशर होने वाला है क्योंकि पाकिस्तान से भी बहुत उम्मीदें होंगी। अगर इस समय पर आप देखें तो भारत पाकिस्तान के मुकाबले काफी मजबूत दिखाई देता है। हां, टी-20 फॉर्मेट में कोई भी किसी को हरा सकता है। हमको किसी भी टीम को हल्के में नहीं लेना चाहिए जैसे अफगानिस्तान भी आपको अपसेट कर सकती है। पाकिस्तान के साथ भी ऐसा ही है। लेकिन, उनके ऊपर प्रेशर होगा।'

भारत और पाकिस्तान की टीम 2019 वर्ल्ड कप में एक दूसरे के खिलाफ मैदान पर उतरी थीं, जिसमें कोहली की अगुवाई में बारिश से प्रभावित मैच में टीम इंडिया ने बाजी मारी थी। टी-20 वर्ल्ड कप की शुरुआत 17 अक्टूबर से यूएई और ओमान में होगी। टूर्नामेंट का पहला दौर 17 अक्टूबर को ओमान में शुरू होगा, जिसमें शुरुआती मैच में ओमान का सामना पापुआ न्यू गिनी जबकि बांग्लादेश का मुकाबला स्कॉटलैंड से होगा। पहले टी20 वर्ल्ड कप भारत में खेला जाना था, लेकिन कोविड-19 महामारी के चलते इसको बाहर शिफ्ट कर दिया गया, हालांकि इस टी-20 वर्ल्ड कप की मेजबानी भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ही कर रहा है। बता दें कि इस बार कुल 16 टीमें इस मेगा इवेंट में भाग ले रही हैं। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले आठ देशों का क्वालीफाइंग टूर्नामेंट होगा, जो 23 सितंबर से शुरू किया जाएगा। इसमें श्रीलंका, बांग्लादेश और आयरलैंड की टीमें भी शामिल हैं। इसमें से चार टीमें सुपर-12 चरण के लिए क्वालीफाई करेगी।