IND vs ENG: रोहित शर्मा की बैटिंग के कायल हुए इंजमाम उल हक

भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला लॉर्ड्स के ऐतिहासिक मैदान पर खेला जा रहा है। टीम इंडिया पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद मजबूत स्थिति में नजर आ रही है। टीम ने महज 3 विकेट खोकर 276 रन बना लिए हैं। टेस्ट के पहले दिन एक तरफ जहां केएल राहुल की क्लास देखने को मिली तो वहीं दूसरी ओर रोहित शर्मा ने अपनी बल्लेबाजी से फैन्स का दिल जीता। रोहित ने मैच के पहले ही ओवर से इंग्लिश गेंदबाजों पर दबाव बनाया और उसको कायम रखा जिसका फायदा बाकी बल्लेबाजों को भी मिला। इंग्लैंड की इन कंडिशंस में रोहित की शानदार बैटिंग देखकर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक खुद को हिटमैन की तारीफ करने से नहीं रोक सके। उन्होंने कहा कि जिस तरह से इन परिस्थितियों में रोहित ने बल्लेबाजी की वह लाजवाब है। उन्होंने केएल राहुल की शतकीय पारी की भी जमकर प्रशंसा की। 

अपने यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए इंजमाम ने कहा, 'भारत ने अपने इरादे पहले टेस्ट के प्रदर्शन से ही जाहिर कर दिए थे। नमी की वजह से इंग्लैंड में शुरुआत के दो घंटे तेज गेंदबाजों को मदद मिलती है। इंग्लैंड ने उम्मीद की थी कि वह तीन-चार विकेट जल्दी चटका लेंगे और भारत को दबाव में डाल देंगे। जिस तरह से इन कंडिशंस में रोहित शर्मा ने शुरुआत की वह लाजवाब है। उनकी बदौलत भारत को जबरदस्त शुरुआत मिली और सारा प्रेशर गायब हो गया और इस चीज का फायदा केएल राहुल ने उठाया। रोहित शर्मा का स्ट्राइक रेट 57 और केएल राहुल का 51 का रहा, जिसका मतलब है कि इन दोनों ने लगातार गेंदबाजों पर दबाव बनाए रखा। जो बल्लेबाज धीमी खेलकर रन बनाते हैं उनको मैंने स्कोर करते नहीं देखा है और मेरे हिसाब से उन रनों का कोई महत्व भी नहीं है।'

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान ने राहुल की बैटिंग की तारीफ करते हुए कहा, 'बहुत ही कम बल्लेबाजों का ऐसा रिकॉर्ड होता है, जिनके पहले 8 से 10 शतक घर से बाहर आते हैं। आपने देखा होगा कई खिलाड़ियों को जिन्होंने विदेशों में सेंचुरी जड़ी है, लेकिन वह आमतौर पर अपने शतकों का पहला सेट घर में बनाते हैं और अनुभव हासिल करने के बाद बाहर रन बनाते हैं। हालांकि, केएल राहुल उनसे एकदम अलग हैं।' राहुल ने लॉर्ड्स के मैदान पर 31 साल का सूखा खत्म करते हुए शतक जमाया। एशिया के बाहर टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक लगाने के मामले में उन्होंने वीरेंद्र सहवाग की बराबरी भी कर ली है।