प्रधानी जीत गए हो, काम नहीं करने देंगे

फतेहपुर। तालाब, खलिहान व नवीन परती जमीन पर कब्जा करने वाले प्रशासनिक कार्रवाई के बाद प्रधान प्रतिनिधि को धमकी दे रहे हैं। अभी हाल ही में प्रशासन की मदद से ग्राम सभा ने कुछ रास्तों को कब्जा मुक्त कराया। आरोप है कि उसी के बाद से कब्जा धारक और खुन्नस मान बैठे। गुरूवार उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन ने जलालपुर का प्रकरण पुलिस कप्तान के सामने रखा। एसपी ने मामले की जांच कराकर के कार्रवाई का भरोसा दिया। संगठन केे जिलाध्यक्ष नदीम उद्दीन पप्पू की अगुवाई में प्रधान पुलिस कप्तान राजेश कुमार सिंह से मिलने पहुंचे। अमौली ब्लाक के जलालपुर गांव के प्रधान प्रतिनिधि धर्मपाल पाल का प्रकरण पेश करते हुए बताया कि गांव के सुनील मिश्रा, शिवकरन सिंह, अब्दुल रज्जाक खान, बालेन्दु दुबे, शैलेन्द्र पांडेय, चंदन पांडेय व रजोल पांडेय ने ग्राम सभा की जमीनों पर कब्जा कर रखा है। चकरोड भी सलामत नहीं बचे हैं। जिससे गांव वालों को आने-जाने में परेशानी हो रही है। अभी प्रशासन की मदद से रास्तों को खाली कराया गया है, जिन पर फिर कब्जा शुरू हो गया है। कब्जा करने वाले इसी कार्रवाई के बाद अब झूठे मुकदमें में फंसाने की धमकी दे रहे हैं। उनका कहना है कि प्रधानी तो जीत गए हो, लेकिन किसी भी दशा में काम नहीं करने देंगे। आए दिन मिल रही धमकी से प्रधान परिवार दहशत के साए में जी रहा है। इस मौके पर इन्द्रपाल, श्रीकांत उत्तम, अरविन्द उमराव, गोविंद नारायण, अबरार अहमद, सनोज कुमार, राजेश कुमार भी मौजूद रहे।