भारत रक्षा दल ने आज शमशान घाट पर शवदाह गृह निर्माण का शिलान्यास करवाया।

आजमगढ़ : स्थानीय राजघाट पर गैस आधारित शवदाह मशीन लगाने के अभियान में लगे भारत रक्षा दल ने आज शमशान घाट पर शवदाह गृह निर्माण का शिलान्यास करवाया। इस अवसर पर उपस्थित कार्यकर्ताओं ने कहा कि राजघाट पर ज्यादा संख्या में मृतक शरीर दाह संस्कार के लिए लाए जाने लगे हैं,लोगों को दाह संस्कार करने में काफी परेशानी होती है, बड़े महानगरों  शवदाह गृह लगे हैं लेकिन अब उसकी आवश्यकता यहां भी होने लगी है, इस आवश्यकता और लोगों की जरूरत को समझते हुए हम लोगों ने यहां पर गैस आधारित शवदाह मशीन बनाने की योजना बना ली थी ,इस मशीन लगाने में 26, 27 लाख का खर्च होने वाला है ।यह सारा खर्च जन सहयोग से होना है, इसके लिए आम जनता ने पहल करना भी शुरू कर दिया है , कुछ ही महीनों में यहां पर गैस आधारित  अंत्येष्टि मशीन काम करने लगेगी, इस मशीन से दाह संस्कार करने में 40 से 50 मिनट का समय, 14 किग्रा गैस का खर्च,और वायु व जल प्रदूषण पर नियंत्रण, पेड़ों का कटान में कमी होने से  पर्यावरण को फायदा होगा, मृतक शरीर के वजन का मात्र 5% राख निकलेगी जिसे मृतक के परिजन 30 मिनट बाद ले जा सकते हैं। आज के कार्यक्रम में भारत रक्षा दल के सैकड़ों कार्यकर्ता उपस्थित रहे, इसका शिलान्यास श्री अनूप कुमार श्रीवास्तव पूर्व आयुक्त (आई आर एस) डॉ वाई एम सलमानी, ब्रिगेडियर अनिल जी, ब्रिगेडियर प्रदीप कुमार जी तथा आजमगढ़ के प्रमुख समाजसेवी राम सकल पटेल उपस्थित रहे ।