राम मंदिर शिलान्यास के एक साल पूरे होने पर होगी विशेष पूजा

लखनऊ। राम की नगरी अयोध्या में रामलला के भव्य मंदिर का निर्माण  का जारी है। 5 अगस्त को राम मंदिर शिलान्यास के एक साल पूरे हो रहे है। पिछले साल 5 अगस्त 2020 को पहली बार प्रधानमंत्री मोदी ने अयोध्या आकर मंदिर निर्माण के लिए शिला पूजन कर मंदिर की आधारशिला रखी थी। एक साल साल लगातार मंदिर के निर्माण का कार्य तेजी से चल रहा है। इन एक सालों में पूरे होने के उपलक्ष्य पर ट्र्स्ट की तरफ से खास तैयारी की गयी है। इस बार राम मंदिर परिसर में जिस जगह पर प्रधानमंत्री मोदी ने भूमि पूजन किया था वहां विशेष पूजा पाठ और अनुष्ठान किया जाएगा। राम जन्मभूमि पर कलश स्थापना के साथ हवन पूजा पाठ के बाद प्रसाद वितरण किया जाएगा। इस मौके पर भगवान रामचंद्र को छप्पन भोग लगेंगे, सभी साधु-संतों को प्रसाद वितरण करवाया जाएगा। रामलला के मुख्य पुजारी सत्येंद्र दास महाराज बताते हैं कि उन्होंने राम लला को टाट में भोग लगाया है कई बार वो भोग लगाते वक्त रो पड़ते थे कि आखिर कब भगवान अपने मंदिर में विराजमान होंगे लेकिन सदियों के इंतजार के बाद वो तारीख आयी जब पिछले साल पीएम मोदी ने मंदिर का शिलान्यास किया और उसी के बाद रामलला को राम जन्मभूमि परिसर में ही अस्थायी मंदिर में स्थापित कर दिया गया है लेकिन इस बार मंदिर के शिलान्यास के एक साल पूरे हो रहे है, जो संतो के लिए हर्ष का विषय है। रत्न जडि़त वस्त्र में रामलला नजर आयेंगे।इस मौके पर रामादल की तरफ से तैयार की गयी रामलला को खघस पोशाक धारण करवायी जाएगी. रामलला के पारम्परिक वस्त्र तैयार करने वाले टेलर को ऑर्डर दिया गया है।चूंकि राम लला को दिन के हिसाब से कपड़े धारण करवाये जाते है इस लिहाज से इस बार भी रामा दल की तरफ से इस बार भी 5 अगस्त को रत्न जडि़त वस्त्र भेंट किया जायेगा।5 अगस्त को गुरुवार का दिन होने के वजह से भगवान राम को पीले रंग के वस्त्र धारण करवाए जाएंगे। इसके अलावा वस्त्र में नवरत्न जड़े होंगे। मंदिर के शिलान्यास के एक साल पूरे होने के उपलक्ष्य में रामा दल की तरफ से बड़ा ऐलान किया गया है जिसके तहत इस बार भगवान राम के भव्य मंदिर के लिए स्वर्ण पत्र चैखट का आर्डर दिया जायेगा।