ध्यान लगाने से मैचों के दौरान मुश्किल परिस्थितियों का सामना करने में मदद मिली: सिंधू

हैदराबाद : ओलंपिक में दो व्यक्तिगत पदक जीतने वाली स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधू ने कहा कि ध्यान लगाने से उन्हें अपने करियर में सफलताएं हासिल करने में मदद मिली क्योंकि इससे चित शांत रहता है और भावनाओं को बेहतर समझा जा सकता है। सिंधू ने यहां जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘‘ध्यान लगाने से मैं शांतचित बनी रहती हूं और इससे मुझे भावनाओं को बेहतर तरीके से समझने में मदद मिलती है। इससे मुझे अपनी आगे की योजनाओं को तैयार करने में भी मदद मिलती है। ’’ उन्होंने यहां हर्टफुलनेस इंस्टीट्यूट का दौरा करने के बाद कहा, ‘‘महामारी के इस तनावपूर्ण दौर में ध्यान से शांतचित बने रहने में मदद मिलती है। ध्यान लगाने से मुझे मेरे करियर में मदद मिली। मैं मैचों के दौरान मुश्किल परिस्थितियों का आसानी से सामना कर सकती हूं।’’ सिंधू ने तोक्यो ओलंपिक में महिला एकल का कांस्य पदक जीता। इससे पहले उन्होंने रियो ओलंपिक में रजत पदक हासिल किया था। वह ओलंपिक में दो व्यक्तिगत पदक हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी है।