कई बीमारियों की जड़ है कब्ज, एलोवेरा से पाएं छुटकारा

पेट का साफ न होना यानि कब्ज की समस्या। कहने को तो ये मामूली-सी परेशानी लगती है लेकिन बार-बार कब्ज होना बवासीर, एसिडिटी, अल्सर, जी मिचलाना, पेट दर्द,, सिरदर्द, खट्टी डकार आना जैसी परेशानियों को न्यौता देता है। वहीं, पेट साफ ना हो तो मोटापा, पिंपल्स, डार्क सर्कल्स, रिंकल्स जैसी समस्याओं का सामना भी करना पड़ सकता है। हालांकि एलोवेरा की मदद से आप पुरानी से पुरानी कब्ज की छुट्टी कर सकते हैं। चलिए आपको बताते हैं कि कब्ज को दूर करने के लिए कैसे करें एलोवेरा का इस्तेमाल

कब्घ्ज में पिएं एलोवेरा का जूस

औषधीय गुण से भरपूर एलोवेरा कब्ज के साथ-साथ पेट में छाले से भी छुटकारा दिलाती है। आप इसकी जेल से काढ़ा, जूस बनाकर पी सकते हैं। डॉक्टर की सलाह से आप एलोवेरा सप्लीमेंट भी ले सकते हैं लेकिन शुरूआत में इसकी सीमित मात्रा ही लें।

एलोवेरा का जूस कैसे बनाएं?

1. सबसे पहले एलोवेरा के ताजे पत्ते तोड़कर धो लें। फिर चाकू की मदद से इसके कांटे निकालकर जेल निकाल लें।

2. अब एलोवेरा जेल में थोड़ा-सा शहद, 1/2 चम्मच नींबू का रस, थोड़ी-सी अदरक डालकर ब्लैंडर कर लें। 

3. इसके बाद जूस को छानकर एक गिलास में निकाल लें। इसमें चुटकीभर सेंधा नमक और काली मिर्च मिलाएं।

4. लीजिए आपकी ड्रिंक तैयार है। अब इसका सेवन करें।

ऐसे भी कर सकते हैं सेवन

इसके अलावा कब्ज से छुटकारा पाने के लिए आप एलोवेरा जूस में नारियल पानी मिलाकर पी सकते हैं लेकिन गर्भवती महिलाएं इसे लेने से पहले डॉक्टर की सलाह लें।

कितनी मात्रा में करें सेवन?

कब्ज की समस्या रहती है तो सुबह 1 गिलास एलोवेरा जूस पीएं लेकिन ध्यान रखें कि कब्ज ठीक होने का बाद नियमित इसका सेवन ना करें। इसके अलावा 1 दिन में एक ग्राम से ज्यादा एलोवेरा ना लें। बच्चों में कब्ज दूर करने के लिए इस नुस्खे को ना आजमाएं।

क्घ्या जूस के लिए पत्तों को उबाल सकते हैं?

ध्यान रखें कि जूस बनाने के लिए एलोवेरा के पत्तों को उबालें नहीं क्योंकि इससे उसके सभी न्यूट्रिएंट्स खत्म हो जाएंगे। जितना आप एलोवेरा को उबालेंगे उसमें पोषक तत्व उतने ही कम होते जाएंगे।

एलोवेरा कैप्सूल भी फायदेमंद

इसके अलावा कब्ज से राहत पाने के लिए आप एलोवेरा कैप्सूल भी ले सकते हैं लेकिन जूस से ज्यादा फायदा होगा। ध्यान रखें कि कैप्सूल लेने से पहले डॉक्टर की राय लेना ना भूलें।

इन बातों का रखें ध्यान

. डाइट में अधिक से में फाइबर युक्त चीजें लें क्योंकि यह जल्टी पच जाती है। साथ ही बाहरी जंक फूड्स व अनहैल्दी चीजों से परहेज रखें।

. सोने से कम से कम 1-2 घंटे पहले भोजन करें और दिन के हर मील के बाद 10 मिनट सैर जरूर करें।

. खाना खाने के बाद चाय या कॉफी का सेवन न करें और ना ही एक घंटे तक कोई फल न खाएं।

. भोजन समय पर करें और अधिक देर तक खाली पेट न रहें। दिनभर में कम से कम 9-10 गिलास पानी पीएं।

अगर इसके बावजूद भी आपकी कब्ज दूर नहीं हो रही तो डॉक्घ्टर से बिना देरी संपर्क करें क्योंकि यह किसी बीमारी की संकेत भी हो सकता है।

posted by - दीपिका पाठक