डायबिटीज, जोड़ दर्द समेत इन बीमारियों का काल है इन्द्रायण फल, ऐसे करें इस्तेमाल

सेहतमंद रहने के लिए हर कोई फल और सब्जियों का सेवन करता है। मगर क्या आपने कभी इंद्रायण का नाम सुना है? यह एक बेल की तरह होता है, जिसमें लगने वाले फल, उसके बीज, जड़ व पत्ते औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं। इसका फल बाहर से तरबूज की तरह दिखाई देता है। इसका सेवन करने से डायबिटीज कंट्रोल रहने के साथ अर्थराइटिस का दर्द दूर होने में मदद मिलती है। चलिए आज हम आपको इंद्रायण फल के फायदे व इसके सेवन का तरीका बताते हैं...

नघ्मिोनघ्यिा में फायदेमंद

औषधीय गुणों से भरपूर इंद्रायण फल निमोनिया का इलाज करने में भी कारगर माना गया है। ऐसे में निमोनिया से पीड़ित लोगों को इसका सेवन जरूर करना चाहिए। इसके लिए गुनगुने पानी में इंद्रायण के रस को मिलाकर रोगी को पिलाने से निमोनिया से जल्दी रिकवरी होने में मदद मिलती है। इसके अलावा इंद्रायण की जड़ का चूर्ण का सेवन करना भी फायदेमंद माना जाता है। 

अर्थराइटघ्सि दर्द से दिलाए आराम

अर्थराइटिस में मरीज को जोड़ों में दर्द व सूजन की शिकायत रहती है। इस दौरान इंद्रायण फल का सेवन करना फायदेमंद माना जाता है। इसमें मौजूद एंटी-इंफ्लामेटरी व औषधीय गुण दर्द व सूजन को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा शरीर के अन्य हिस्से पर चोट के कारण सूजन की समस्या होने पर प्रभावित जगह पर इस फल का रस लगाने से आराम मिलता है।

डायबिटीज कंट्रोल करने में माहिर 

डायबिटीज के मरीजों को हर चीज सोच-समझकर खानी पड़ती है। ऐसे में ये लोग इंद्रायण फल का सेवन कर सकते हैं। इसमें मौजूद एंटी-डायबेटघ्कि गुण  डायबिटीज कंट्रोल करने में कारगर माना गया है। शुगर के मरीज इसका फल, बीज, जड़ आदि का सेवन कर सकती है। इसके अलावा इन सबको पीसकर पाउडर बनाकर गुनगुने पानी के साथ 1/2 छोटा चम्मच इसका सेवन करें।

मोटापा कम करने में मददगार 

आज के जमाने में हर दूसरा व्यक्ति मोटापे से परेशान है। अगर आप भी बढ़े हुए वजन से परेशान है तो इंद्रायण के बीज को पीसकर पाउडर बनाएं। फिर इसमें इंद्रायण फल का रस मिलाएं। अब पैन में 2 कप पानी गर्म करके उसमें यह मिश्रण मिलाकर इसे आधे होने तक व काढ़ा बनने तक उबालें। तैयार काढ़े में स्वाद अनुसार काली मिर्च मिलाकर पीएं। ऐसा कुछ दिन लगातार करने से आपको फर्क महसूस होगा। 

पीरियड्स की अनियमितता करे दूर 

अक्सर कई लड़कियां पीरियड्स की अनियमितता से परेशान रहती है। ऐसे में इस समस्या से बचने के लिए इंद्रायण औषधीय की तरह काम करता है। इसके लिए इंद्रायण फल का रस और बीज को पीसकर काढ़ा बनाएं। इस दिन में 1 बार पीएं। लगातार कुछ दिन इसका सेवन करने से पीरियड्स से जुड़ी समस्याओं से आराम मिलेगा।

यूरिन करने दौरान जलन से दिलाए छुटकारा 

शरीर में पानी की कमी के कारण यूरिन पास करते समय जलन महसूस होने लगती है। इस समस्या से बचने के लिए इंद्रायण की जड़ का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है। इसके लिए इसकी जड़ को पीसकर पाउडर बनाएं। फिर इसका गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। कुछ दिनों में ही आराम मिलने लगेगा। 

posted by - दीपिका पाठक