एक दिन ऐसा हो जाएगा

तुम सवाल उठाओ

सौ बार किसी की सच्चाई पर,

एक दिन आएगा ऐसा

जब वो उन सवालों से तंग आकर 

झूठा ही हो जाएगा,

मानना मुश्किल है तुम्हारे लिए

लेकिन वो दिन तुम्हारी बदौलत ही आएगा।


तुम शंका जताओ

सौ बार किसी की अच्छाई पर,

एक दिन आएगा ऐसा

जब वो उन शंकाओं से तंग आकर 

बुरा ही हो जाएगा,

मानना मुश्किल है तुम्हारे लिए

लेकिन वो दिन तुम्हारी बदौलत ही आएगा।


तुम सवाल उठाओ

सौ बार किसी की वफादारी पर,

एक दिन आएगा ऐसा

जब वो उन सवालों से तंग आकर

धोखेबाज ही हो जाएगा,

मानना मुश्किल है तुम्हारे लिए

लेकिन वो दिन तुम्हारी बदौलत ही आएगा।


तुम शंका जताओ

सौ बार किसी की फरमाबरदारी पर,

एक दिन आएगा ऐसा

जब वो उन शंकाओं से तंग आकर

नाफरमानी पर उतर आएगा,

मानना मुश्किल है तुम्हारे लिए

लेकिन वो दिन तुम्हारी बदौलत ही आएगा


                                      जितेन्द्र 'कबीर'