सेहत के लिए अमृत समान शिवजी का प्रिय फल धतूरा, कई बीमारियां होंगी दूर

सावन का पवित्र महीना चल रहा है। ऐसे में शिवजी कृपा पाने के लिए लोग पूजा में उनकी अन्य प्रिय चीजों के साथ धतूरा भी चढ़ाते हैं। मगर धतूरा धार्मिक महत्व रखने के साथ अपने अंदर औषधीय गुण समाए हुए है। ऐसे में इसके पत्तों व रस का प्रयोग करने से कई समस्याओं से बचा जा सकता है। चलिए जानते हैं इसके बारे में...

मिर्गी के रोगियों के लिए रामबाण औषधि

मिर्गी के मरीजों के लिए धतूरा औषधीय के समान माना जाता है। धतूरे की जड़ मरीज को सुंघाने से तुरंत आराम मिलता है। इसलिए मिर्गी से पीडि़त रोगी को अपने घर के आसपास धतूरे का पौधा जरूर लगाना चाहिए। ताकि जरूरत पड़ने पर इसका तुरंत इस्तेमाल किया जाए।

जोड़ों के दर्द से दिलाए छुटकारा

धतूरे की पत्तियों को पीसकर इसका लेप प्रभावित जगह पर लगाएं। इसकी तासीर गर्म होती है। ऐसे में इसका लेप लगाने से मांसपेशियों की नेचुरली सिकाई होने से ये नरम होने लगती है। ऐसे में जोड़ों में दर्द, पैरों में सूजन व भारीपन की परेशानी से आराम मिलता है। इसके अलावा धतूरे के रस को तिल के तेल में मिलाकर हल्का गुनगुना करके प्रभावित जगह पर मसाज करें। उसके बाद इसपर धतूरे का पत्ता बांध लें। इससे अर्थराइटिस की समस्या जल्द आराम मिलता है।

कान दर्द से राहत दिलाए

कान दर्द व इसमें घाव की समस्या होने पर धतूरा फायदेमंद माना जाता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल वएंटी-इन्फ्लामेंट्री गुण होते हैं। ऐसे में इसके रस की 1-2 बूंदें कान में डालने से दर्द व घाव से जल्द ही आराम मिलता है।

मजबूत हड्डियां

धतूरे में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। ऐसे में इसका रस निकालकर शरीर की मालिश करने से हड्डियों में मजबूती आती है।

हेयरफॉल से दिलाए छुटकारा

धतूरे के रस को सिर पर लगाने से बालों का झड़ना बंद होता है। इसमें रस में मौजूद पोषक तत्व व एंटी-ऑक्सीडेंट्स गुण सीबम को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। ऐसे में बालों का टूटना-गिरना बंद होता है। इसके साथ इससे बालों जुएं की समस्या से आराम मिलता है।

posted by - दीपिका पाठक