क्रिस केर्न्स को आस्ट्रेलिया में जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया: रिपोर्ट

मेलबर्न : न्यूजीलैंड के पूर्व आलराउंडर क्रिस केर्न्स को अचानक बेहोश होने के बाद कैनबरा में जीवनरक्षक प्रणाली पर रखा गया है। मंगलवार को एक खबर में यह जानकारी दी गई।‘न्यूजीलैंड हेराल्ड’ की खबर के अनुसार केर्न्स को ‘ पिछले हफ्ते कैनबरा में गंभीर चिकित्सा आपात स्थिति ओरटिक डिसेक्सन का सामना करना पड़ा’। ओरटिक डिसेक्सन एक गंभीर स्थिति है जिसमें शरीर की मुख्य धमनी की भीतरी परत को नुकसान पहुंचता है।खबर के अनुसार, ‘‘कथित तौर पर अस्पताल में उनके कई आपरेशन हुए लेकिन उनका शरीर उपचार पर उम्मीद के मुताबिक प्रतिक्रिया नहीं दे रहा है।’’ अपने समय में सर्वश्रेष्ठ आलराउंडरों में से एक केर्न्स ने न्यूजीलैंड के लिए 1989 से 2006 के बीच 62 टेस्ट, 215 एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय और दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबले खेले। उनके पिता लांस केर्न्स ने भी न्यूजीलैंड का प्रतिनिधित्व किया। वर्ष 2008 में अब भंग हो चुकी इंडियन क्रिकेट लीग में खेलने के दौरान मैच फिक्सिंग के आरोपों का सामना करने वाले 51 साल के केर्न्स ने खुद को निर्दोष साबित करने के लिए कई कानूनी लड़ाइयां लड़ी। उन्होंने इस दौरान 2012 में इंडियन प्रीमियर लीग के संस्थापक ललित मोदी के खिलाफ मानहानि का मामला भी जीता। उन्हें साथी क्रिकेटरों लू विन्सेंट और ब्रैंडन मैकुलम से दोबारा फिक्सिंग के आरोपों का सामना करना पड़ा लेकिन 2015 में लंदन में लंबी सुनवाई के बाद उन्हें झूठी गवाही देने और न्याय प्रक्रिया में बाधा पहुंचाने के आरोपों से बरी कर दिया गया। भ्रष्टाचार के आरोपों से लड़ने का उनके जीवन पर भी असर पड़ा और एक समय उन्हें कानूनी फीस चुकाने के लिए आकलैंड परिषद में ट्रक चलाने और बस अड्डे में सफाई करने का काम भी करना पड़ा।