बीएड् वार्षिक् शैक्षणिक सेमिनार के दो दिवसीय आयोजन का समापन

आजमगढ़। कोल बाजबहादुर स्थित एमए मेमोरियल गर्ल्स डिग्री कालेज में बीएड् वार्षिक् शैक्षणिक सेमिनार के दो दिवसीय आयोजन का समापन बुधवार को हुआ। प्रथम दिन कैप्टन डा मदन मोहन पांडेय प्राचार्य शिवा जी पीजी कालेज तेरही एवं शिनेका के प्रवक्ता डा विनोद कुमार सिंह द्वारा दीप प्रज्जवलित का कार्यक्रम शुभारंभ किया गया।

वहीं बुधवार को दूसरे दिन शुभारंभ के उपरांत सेमिनार को संबोधित करते हुए संस्थान की संस्थापक सुश्री राना खातून ने कहा कि शिक्षा से ही जीवन में आत्मविश्वास बढ़ता है। महिलाएं आज रेल से लेकर हवाई जहाज तक उड़ा रही है, खुद को महिलाएं कभी भी कमजोर नहीं समझे। उन्होंने आगे कहा कि नारी के प्रति सम्मान जगाने के लिए पहले उसके इतिहास को समझना होगा। उन्होंने महिलाओं के हक में बनाये गये कानून पर भी जानकारी दिया। सुश्री खातून ने कहा कि नारी को अपने सम्मान व अधिकार की रक्षा करने के लिए आवश्यकता पड़ने पर काली और दुर्गा का रूप भी धारण करने में भी पीछे नहीं रहना चाहिए।

इसके बाद मुख्य अतिथि प्राचार्य डा कृष्णा सिंह, विशिष्ट अतिथि कालेज संस्थापक व पूर्व पालिकाध्यक्ष मऊ राना खातून द्वारा बीएड् छात्राध्यापिकाओं को प्रमाणपत्र व पुरस्कार वितरित किया गया। इसके अलावा नारी सशक्तिकरण लिंगभेद लैंगिक भेदभाव पर व्याख्यान प्रस्तुत किया गया।

इस मौके पर प्रबंधक डा एस यू खान, प्राचार्य डा उमाकांत तिवारी, रजीउद्दीन खान, हुमा परवेज, रजीउद्दीन खान, हुमा परवेज, डा युगांत उपाध्याय, डा महेश यादव, डा नीरजा मिश्रा, डा कुसुम मिश्रा, चन्दशेखर यादव, सतीश यादव, डा मदन मोहन पांडेय, ग्राम प्रधान विनोद यादव, भारत रक्षा दल के मोहम्मद अफजल, डा असलम खान समेत बीएड छात्राए मौजूद रही।