ब्रेस्टफीडिंग के दौरान निप्पल में होता है दर्द तो आराम दिलाएंगे ये घरेलू उपाय

एक औरत के लिए मां बनना बेहद ही खूबसूरत अनुभव होता है। मगर इस दौरान कई बार कुछ परेशानियों का भी सामना करना करता है जैसे कि निपप्ल में दर्द होना। असल में, गलत पोजीशन में बच्चे को दूध पिलाने, ब्रेस्टफीडिंग कराने के दौरान बेबी द्वारा निप्पल काटने के कारण असहनीय दर्द होता है। इसके अलावा टाइट ब्रा पहनना, रात को ब्रा पहनकर सोने से भी दर्द की शिकायत होती है। मगर इसका इलाज आप कुछ देसी नुस्खे अपनाकर आसानी से कर सकती है। चलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में निप्पल दर्द से छुटकारा पाने के कुछ खास व आसान उपायों के बारे में बताते हैं...

तेल मसाज से होगा फायदा

निप्पल का रूखापन दूर करने के लिए तेल मसाज करना बेस्ट ऑप्शन है। इसके लिए आप नारियल, जैतून, सरसों या किसी भी नेचुरल तेल का इस्तेमाल कर सकती है। इसके लिए तेल को गुनगुना करके दिन में 4-5 बार हल्के हाथों से प्रभावित जगह पर मसाज करें। ब्रेस्ट पर खून का संचार बेहतर होगा। निप्पल का रूखापन दूर होकर दर्द से आराम मिलेगा। मगर इस बात का खास ध्यान रखें कि स्तनपान कराने से पहले आप निप्पल की अच्छे से सफाई कर लें।

बर्फ की सिकाई

आप बर्फ की सकाई करके भी निप्पल दर्द से राहत पा सकती है। इसके लिए किसी कपड़े में बर्फ लपेटकर निपल्स के आसपास 10 से 15 मिनट तक सिकाई करें। मगर बर्फ को सीधे स्किन पर लगाने की गलती ना करें।

लगाए अपना दूध

हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, मां का खुद का दूध निपल्स पर लगाने से दर्द कम होने में मदद मिलती है। इससे निपल्स का रूखापन व फटने की समस्या से भी आराम मिलता है। मां के दूध में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। ऐसे में निप्पल दर्द की परेशानी से बचने के लिए दिन में 4-5 बार खुद का दूध प्रभावित जगह पर लगा सकती है।

टी ट्री और नारियल ऑयल करें इस्तेमाल

आप निप्पल दर्द से छुटकारा पाने के लिए टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल कर सकती है। इसके लिए एक कटोरी में दोनों तेल को बराबर मात्रा में मिलाएं। फिर इसे कॉटन की मदद से निप्पल के आसपास लगाएं। इसे रातभर लगा रहने दें या 30 मिनट के बाद गीले कपड़े से साफ कर लें। इससे आपको निप्पल दर्द से जल्द ही राहत मिलेगी।

सेब का सिरका से मिलेगा आराम

सेब का सिरका में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल गुण होते हैं। ऐसे में इसका इस्तेमाल करने से निप्पल के आसपास मौजूद बैक्टीरिया नष्ट हो जाते हैं। साथ ही दर्द से भी आराम मिलता है। इसके लिए आप सेब के सिरका को कॉटन में डूबोकर प्रभावति जगह पर 10-15 मिनट तक लगाएं। बाद में ताजे पानी से इसे धो लें। आप चाहे तो इसे लगाने के बाद प्रभावित जगह पर नारियल तेल लगा सकती है। इससे आपको दर्द से आराम मिलने के साथ त्वचा का रूखापन दूर होने में मदद मिलेगी।

एलोवेरा से करें मसाज

एलोवेरा एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल गुणों से भरपूर होता है। ऐसे में आप आप निप्पल दर्द व इसका रूखापन दूर करने के लिए एलोवेरा जेल इस्तेमाल कर सकती है। इसके लिए फ्रेश एलोवेरा जेल लेकर उससे प्रभावित जगह की हल्के हाथों से मसाज करें। इसे 20-25 मिनट तक लगा रहने दें। बाद में गीले कपड़े से साफ कर लें। ऐसा कुछ दिन करने से आपके आराम मिलेगा।

डाइट में शामिल करें विटामिन सी

एक्सपर्ट्स के अनुसार, डेली डाइट में विटामिन सी से भरपूर चीजें शामिल करने से शरीर को पूरा पोषण मिलता है। ऐसे में इम्यूनिटी बढ़ने के साथ निप्पल दर्द से आराम मिलता है। इसके अपनी डेली डाइट में संतरा, नींबू, पपीता, अमरूद, केला, ब्रोकली, शिमला मिर्च, आंवला आदि विटामिन सी से भरपूर चीजें शामिल करें।