भाजपा किसान हमदर्दी का झूठा ढोल पिट रही-कांग्रेस

लखनऊ: उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने गुरुवार को किसानों के हालात को लेकर जमकर भाजपा सरकार पर हमला बोला। कांग्रेस नेता ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा गन्ना मूल्य में पांच रुपए प्रति कुंतल की मूल्य बढ़ोत्तरी कर 290 रुपए किये जाने वाला कार्य किसानों के साथ धोखा किया गया है। कहा कि मंहगाई के इस दौर में डीजल, बिजली दर और खाद की महंगाई से कृषि लागत की सभी वस्तुओं के दाम आसमान छू चुके है तो यह बढ़ोत्तरी जले पर नमक के बराबर है। लल्लू ने कहा कि यह सरकार अन्नदाताओं की पीड़ा और बेबसी को समझना ही नहीं चाहती है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि प्रदेश की मौजूदा सरकार 2017 के विधान सभा चुनाव में 400 रुपए कुन्तल गन्ना खरीदने का वादा करके सत्ता में आई थी। लेकिन साढ़े चार वर्ष बीत जाने के बाद 10-15-20 रुपए तीन श्रेणी में (प्रथम, द्वितीय और तृतीय) बढ़ाया जोकि 310 रुपया, 315 रुपया और 325 रुपया मात्र ही गन्ना किसानों को मिलता है। इसके विपरित कांग्रेस शासित राज्य पंजाब सरकार ने 360 रुपए में किसानों से गन्ना खरीदने का फैसला किया है। आगे कहा कि प्रदेश के किसानों के लिए गन्ना का मूल्य इतना कम होना, किसानों के उपर बहुत बड़ा भार और घाटे का कारण है। क्योंकि पिछले साढ़े चार वर्ष में कृषि लागत मूल्य दोगुने से ज्यादा बढ़ा हैं उदाहरण स्वरूप खेत की तैयारी से लेकर, फसल तैयार होने से लेकर ढुलाई, बुवाई हो, निराई हो, सिंचाई हो, सारे काम कृषि उपकरण से होते है और यह उपकरण डीजल या बिजली से चलता है दोनों के दाम आसमान छू रहे है। अजय कुमार ने कहा कि इसी प्रकार उर्वरक या किट नाशक उनके दाम भी लगभग दोगुने बढ़े है। ऐसे में गन्ना मूल्य का दाम पिछले साढे चार वर्षो में इतना कम बढ़ाया जाना गन्ना किसानों का अपमान करना और उन पर अनावश्यक दबाव डालना, जबकि इसी दौरान अपने फसल को किसानों ने और गुणवत्ता परक बनाया है। जिससे चीनी रिकवरी रेट बढ़ा है और गन्ने का उत्पादन रकबा के अनुसार पहले की अपेक्षा ज्यादा हुआ है।