लगातार बरसात से विद्यालयों में जलभराव व भवन जर्जर दे रहा दुर्घटना को दावत

आर्य नगर/गोंडा। क्षेत्र के कई विद्यालयों में जलभराव व  भवन जर्जर की स्थिति होने के चलते आए दिन बड़ी दुर्घटना को दावत दे रहा है। विभागीय अधिकारियों की उदासीनता के चलते कायाकल्प से कोसों दूर होने के चलते अध्यापकों व छात्रों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है मामला शिक्षा क्षेत्र रुपईडीह के प्राथमिक विद्यालय छोटी जमुनहीं के परिसर में जलभराव व कमरों में छतों से पानी टपक रहा है वहीं विद्यालय भवन जर्जर की स्थिति में बना हुआ है इस संबंध में सहायक अध्यापक श्वेता गुप्ता ने बताया कि विद्यालय में शौचालय निष्प्रयोज्य ,भवन जर्जर  ,पेयजल आदि में भारी समस्याएं बनी हुई है प्रभारी प्रधानाध्यापक राजधर बैंक कार्य से  गए हुए है । तथा प्राथमिक विद्यालय भरिया लावेदपुर के प्रभारी प्रधानाध्यापिका सगुफ्ता बेगम ने बताया कि विद्यालय में शौचालय निष्क्रिय ,भवन जर्जर, पेयजल की भारी समस्या आदि बना हुआ है वहीं विद्यालय का कायाकल्प के तहत कोई भी कार्य नहीं कराए गए। प्राथमिक विद्यालय रंजीत नगर में अध्यापकों की तैनाती न होने के चलते विद्यालय कई महीनों से बंद चल रहा है और विद्यालय परिसर में काफी जलभराव की स्थिति बनी हुई है। प्राथमिक विद्यालय खनवा पुर में रास्ता सही न होने व अधिक जलभराव होने के चलते अध्यापकों को विद्यालय में प्रवेश करने के लिए भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। इस संबंध में खंड शिक्षा अधिकारी फिजा मिर्चा ने बताया कि इस संबंध में एडीओ पंचायत व ग्राम  प्रधान से चर्चा करते हुए विद्यालय परिसर को स्वच्छ एवं सुंदर बनाया जाएगा जिन विद्यालयों में अध्यापकों की तैनाती नहीं है जल्द ही जांच कर अध्यापकों की तैनाती की जाएगी।