आयुक्त व आई.जी. ने की विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा

बहराइच । विकास कार्यों एवं कानून व्यवस्था की समीक्षा हेतु आयुक्त देवीपाटन मण्डल एस.वी.एस. रंगाराव की अध्यक्षता मे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह ने बताया कि आसन्न त्यौहारों के दृष्टिगत कानून एवं शान्ति व्यवस्था के दृष्टिगत थानावार पीस कमेटी की बैठकें कर ली गयी है तथा धर्मगुरूओं से वीडियों अपील भी जारी करा दी गयी है। बैठकों के माध्यम से लोगों से कहा गया है कि कोविड के सुरक्षात्मक प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए घरों में रहकर त्यौहार मनायें।  

आयुक्त देवीपाटन मण्डल एस.वी.एस. रंगाराव व आई.जी. डाॅ. राकेश कुमार सिंह ने निर्देश दिया कि आसन्न त्यौहारों के दौरान कोरोना पर प्रभावी नियंत्रण के लिए केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन सुनिश्चित कराया जाय। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाय कि पूर्व की भांति लोग अपने घरों में रहकर त्यौहार मनायें। आयुक्त व आई.जी. ने जनपद में अवैध शराब के निर्माण, संचरण एवं वितरण पर प्रभावी अंकुश के लिए चेंकिग अभियान तथा प्रवर्तन की कार्रवाई करने का निर्देश देते हुए कहा कि आकस्मिक रूप से डिस्टेलरियों की निकासी का सत्यापन भी करते रहें।

कोरोना की तीसरी लहर की संभावना के दृष्टिगत आयुक्त ने निर्देश दिया कि आक्सीजन प्लान्ट, वेंटीलेटर, आई.सी.यू., पेड्रियाट्रिक यूनिट इत्यादि सभी प्रकार के लाईफ सपोर्ट सिस्टम को क्रियाशील रखा जाय, यदि कोई उपकरण खराब हैं तो उनकी मरम्मत इत्यादि का कार्य करा लिया जाय। आयुक्त को बताया गया कि जनपद में प्रतिदिन 03 हज़ार से अधिक सैम्पल लिये जा रहे हैं। आयुक्त ने सैम्पलिंग कार्य तथा आक्सीजन प्लान्टों का सत्यापन कराने के साथ-साथ बाहर से आने वाले लोगों की जाॅच पर विशेष ध्यान दिये जाने का निर्देश दिया।

आयुक्त ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि जन समस्याओं/शिकायतों का निस्तारण समयबद्धता के साथ करें तथा निस्तारण की गुणवत्ता को सर्वोपरि रखें। श्री रंगाराव ने धारा-41 के प्रकरणों का अभियान चलाकर निस्तारण करने का भी निर्देश दिया। गो-आश्रय स्थलों की समीक्षा के दौरान निर्देश दिया गया कि पशुओं के चारा, पानी एवं उपचार के बेहतर से प्रबन्ध किये जायें तथा संरक्षित गोवंशों का शत-प्रतिशत टीकाकरण भी कराया जाय। महिला कल्याण विभाग अन्तर्गत संचालित योजनाओं की समीक्षा के दौरान आयुक्त ने निर्देश दिया कि मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना, कन्या सुमंगला योजना आदि के प्रचार-प्रसार हेतु जिलाधिकारी की ओर से ग्राम प्रधानों को पत्र भिजवाया जाय।

आयुक्त ने निर्देश दिया कि असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का अधिक से अधिक पंजीकरण कराया जाय। उन्होंने जिलाधिकारी से अपेक्षा की कि वे स्वयं पंजीकरण कार्य की नियमित समीक्षा करते रहें। बैठक के दौरान आयुक्त ने निर्माणाधीन भवन एवं सड़क परियोजनाओं, पी.एम. आवास, सामुदायिक शौचालय, पंचायत भवनों का निर्माण हर घर जल योजना, खाद्यान्न वितरण, मनरेगा इत्यादि योजना की समीक्षा कर आवश्यक दिशा निेर्देश दिये। बाढ़ कार्य की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी डाॅ. दिनेश चन्द ने बताया कि जनपद में आपदा से प्रभावित लोगों तत्काल शासन द्वारा अनुमन्य सहायता प्रदान की जा रही है।

इस अवसर पर जिलाधिकारी डाॅ. दिनेश चन्द्र, पुलिस अधीक्षक सुजाता सिंह, मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, अपर पुलिस अधीक्षक नगर कुॅवर ज्ञानंजय सिंह व ग्रामीण के अशोक कुमार, नगर मजिस्ट्रेट अनिल कुमार सिंह, उप जिलाधिकारी सदर सौरभ गंगवार आईएएस, अधीक्षक अभियन्ता विद्युत ए.के. यदुवंशी, जिला विकास अधिकारी राजेश कुमार मिश्र, पी.डी. डी.आर.डी.ए. अनिल कुमार सिंह, मेडिकल कालेज के प्राचार्य डाॅ. अनिल के. साहनी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डाॅ. ओ.पी. पाण्डेय, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डाॅ. बलवन्त सिंह, उप निदेशक कृषि टी.पी. शाही, जिला पंचायत राज अधिकारी उमाकान्त पाण्डेय सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी मौजूद रहे। बैठक के दौरान डीएम ने आयुक्त व आईजी को अंगवस्त्र व रूद्राक्ष का पौध भेंट किया।