एमपी में कोचिंग खोलने के आदेश जारी, गाइडलाइन का करना होगा पालन

भोपाल में कोचिंग संस्थान खोलने की इजाजत दे दी गई है। कलेक्टर अविनाश लवानिया ने 50 फीसदी क्षमता के साथ कोचिंग खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं। कोचिंग संचालकों को स्कूल शिक्षा विभाग की गाइडलाइन का पालन करना होगा। भोपाल में कोचिंग खुलने से लाखों छात्र-छात्राओं को फायदा होगा। कोचिंग संस्थानों में एंट्री के समय बच्चों के तापमान की जांच के बाद प्रवेश दिया जाएगा। कोचिंग में आने के लिए बच्चों को अभिभावकों की अनुमति लेनी होगी।

उम्मीद की जा रही है अन्य जिलों में भी जल्द ही कोविड-19 गाइडलाइंस के साथ कोचिंग संस्थान खोलने की इजाजत दे दी जाएगी।

इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि कोचिंग संचालक अपने संस्थानों में कोरोना अनुकूल व्यवहार का शत-प्रतिशत पालन सुनिश्चित करें। कोचिंग कक्षाओं के संचालन की अनुमति के संबंध में राज्य शासन विचार कर रहा है। चौहान ने निवास पर भेंट के लिए आए मध्यप्रदेश कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों से यह बात कही थी। प्रदेश के कोचिंग संचालकों के प्रतिनिधि मंडल ने विधायक रमेश मेंदोला की उपस्थिति में मुख्यमंत्री से भेंट की। विधायक संजय पाठक भी इस अवसर पर उपस्थित थे। मध्यप्रदेश कोचिंग ऑनर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष लक्ष्मी नारायण बकोरिया ने चौहान को बताया कि कोरोना महामारी से जिन विद्यार्थियों के माता-पिता का निधन हो गया है, उनके लिए एसोसिएशन द्वारा कोचिंग और हॉस्टल का नि:शुल्क प्रबंध किया गया है।

एमपीपीईबी परीक्षा कैलेंडर 2021 के अनुसार एमपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2020 परीक्षा ( MPPEB MP Police Constable Exam 2021 ) का आयोजन अक्टूबर-नवंबर में किया जाना प्रस्तावित है। वहीं प्राथमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा 2020 (MP TET 2020) दिसंबर -2021- जनवरी 2022 के दौरान आयोजित की जा सकती है। कोचिंग इंस्टीट्यूट खोले जाने के फैसले से भोपाल में विभिन्न सरकारी प्रतियोगी परीक्षाओं की कोचिंग कर रहे युवाओं को बड़ी राहत मिली है।