ऊधमपुर से प्रयागराज जा रही ट्रेन में डकैती, यात्रियों से लूटपाट

ऊधमपुर। ऊधमपुर से प्रयागराज जा रही स्पेशल ट्रेन संख्या 04142 (प्रयागराज-उधमपुर एक्सप्रेस) में नौ युवकों ने चाकू और बरछे-भाले की नोक पर 20 यात्रियों से मोबाइल फोन और नकदी लूट ली। हालांकि कुछ यात्रियों ने होशियारी दिखाते हुए एक बदमाश को काबू कर लिया जबकि बाकी रास्ते में ही ट्रेन की चेन पुलिंग कर फरार हो गए।

सोनीपत निवासी नवीन और टिकरी बॉर्डर निवासी यात्री सैयद अंसारी ने जीआरपी को बताया कि  शनिवार रात ट्रेन लुधियाना रेलवे स्टेशन पर  रुकी थी। यहीं से निहंगों की वेशभूषा में कोच नंबर डी-7 में निहंग की वेशभूषा में नौ युवक ट्रेन में चढ़े। जैसे ही ट्रेन ने रफ्तार पकड़ी सभी आरोपी यात्रियों के पास आकर बैठ गए। लगभग 15 मिनट बाद कोच में चीख पुकार मच गई।

ट्रेन सरहिंद रेलवे स्टेशन पर पहुंचने वाली थी कि आरोपियों ने चाकू और बरछे-भाले की नोक पर ट्रेन में मौजूद यात्रियों से महंगे मोबाइल फोन व नकदी छीनना शुरू कर दिया। इसी दौरान यात्रियों ने एक लुटेरे को काबू कर लिया। लुटेरों ने साथी को छुड़ाने का प्रयास भी किया। नाकाम रहने पर वे राजपुरा रेलवे स्टेशन से पहले साधुगढ़ और सराय बंजारा स्टेशन के बीच चेन खींचकर ट्रेन को रोक दिया और कूद कर फरार हो गए।

सैयद अंसारी ने बताया कि सभी आरोपी पगड़ीधारी थे और इनमें एक आरोपी को बार-बार सभी फतेह सिंह बोले रहे थे। उसी आरोपी ने उनके सिर पर तेजधार हथियार से वार किया और उसकी जेब से 900 रुपये, बैग से तीन हजार रुपये और मोबाइल फोन छीन लिया। वहीं, लुधियाना रेलवे स्टेशन से प्राप्त फुटेज में साफ नजर आ रहा है कि पकड़े गए युवकों ने ट्रेन में चढ़ने से पहले दो अलग-अलग कोच की रेकी की और इसका इशारा आपस में किया, वहीं फुटेज में यह भी नजर आ रहा है कि उनके हाथों में तेजधार हथियार भी थे।

नवीन ने बताया कि जब वारदात हुई तब वह सो रहा था। किसी ठंडी वस्तु ने जब उसकी गर्दन को छुआ तो वह जाग गया। उसने देखा की मुंह पर कपड़ा बांधे कुछ युवक हाथों में तलवार लिए खड़े थे। बोले कि जो कुछ भी है वो निकालकर हमें दे दो, वरना मारे जाओगे। आरोपियों ने उससे एक हजार रुपये लूट लिए। लुटेरों के आगे जाते ही उसने ट्रेन के शौचालय में छिपकर खुद को बचाया और इसके बाद मामले की जानकारी ट्रेन टीटीई और सुरक्षा एजेंसियों के साथ साझा की।  

टीटीई अरविंद बालियान ने बताया कि लूटपाट के बाद ट्रेन लगभग 7 मिनट साधुगढ़ और सराय बंजारा रेलवे स्टेशन के बीच खड़ी रही। लुटेरों के एक साथी को पकड़ने के बाद यात्रियों की मदद से सभी कोच के दरवाजे बंद कर दिए गए। लुटेरों ने अपने साथी को छुड़ाने का भरसक प्रयास भी किया। ट्रेन चालक को सूचना देकर तुरंत ट्रेन चलवाई गई और इस कारण लुटेरे अपने साथी को छुड़वाने में कामयाब नहीं हो पाए।

पकड़े गए एक युवक पहचान अनमोल निवासी अमृतसर के रूप में हुई है। उसकी शिनाख्त पर पंजाब जीआरपी ने 5 युवकों को रविवार शाम गिरफ्तार कर लिया है। जीआरपी सूत्रों के मुताबिक सभी लुटेरों को पकड़ लिया गया है। मामला मंडल के अधीन सरहिंद स्टेशन के नजदीक हुआ था, इसलिए आरपीएफ भी अपने स्तर पर मामले की जांच कर रही है।

ट्रेन में लूटपाट की सूचना मिली थी। आरपीएफ व जीआरपी ने संयुक्त तौर पर कार्रवाई करते हुए वारदात में शामिल एक आरोपी को ट्रेन से काबू किया। आगामी कार्रवाई के लिए आरोपी को पंजाब जीआरपी अपने साथ ले गई है। जो दो यात्री घायल हुए थे उन्हें प्राथमिक उपचार दिया गया। मामले की आगामी कार्रवाई सरहिंद जीआरपी कर रही है।