मानसून में बढ़ जाती हैं आंत की समस्याएं, ऐसे करें बचाव

हमारे पाचन क्रिया को स्वस्थ रखने के लिए आंतें अहम मानी जाती है। यह बड़ी व छोटी 2 तरह की होती है। बड़ी आंत पानी और छोटी आंत में विटामिन्स, मिनरल्स व अन्य तत्व अवशोषित करती है। मगर आंतों की कार्य प्रणाली में बाधा आने से पाचन तंत्र, दिल, दिमाग, इम्यूनिटी व शरीर में हार्मोनल लेवल पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इसके कारण गंभीर बीमारियों की चपेट में आने का खतरा भी कई गुणा बढ़ जाता है। वहीं मानसून में कुछ बातों का ध्यान ना रखने से आंतों व पाचन तंत्र संबंधी समस्याएं हो सकती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार, इन सब समस्याओं से बचने के लिए मानसून में डेली डाइट व रुटीन का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है।

मानसून में आंत की समस्या बढ़ने के कारण

एक्सपर्ट्स के अनुसार, मानसून में पेट, आंत और लीवर संक्रमण के मरीजों की संख्या बढ़ जाती है। असल में, इस दौरान भोजन और पानी में संक्रमण पैदा हो जाते हैं। इसके कारण बीमारियों की चपेट में आने का खतरा कम रहता है। इसके साथ मसालेदार, ऑयली भोजन व सॉफ्ट ड्रिंक का सेवन करने से पाचन तंत्र धीमा पड़ने लगता है। इसकी वजह से ब्लोटिंग, गैस, एसिडिटी और अपच जैसी समस्याएं होने लगती है।

मानसून में हैल्दी रहने के आसान उपाय

सी फूड खाने से परहेज रखें

इस दौरान पानी में बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। इसलिए मानसून में सी फूड खाने से परहेज रखें। इस दौरान पानी दूषित होने से मछली आदि खाने से कॉलरा व डायरिया होने का खतरा रहता है।

स्ट्रीट फूड ना खाएं

इस समय पानी दूषित होता है। इसलिए मानसून में सड़क किनारे बिकने वाले कटे फलों की चाट, पापड़ी चाट व अन्य स्ट्रीट फूड खाने से बचें।

प्रोबायोटिक्स चीजों का सेवन करना सही

इस समय हैल्दी रहने के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रोबायोटिक्स जैसे योगर्ट या छाछ का सेवन करें। इसके सेवन से इम्यूनिटी व पाचन तंत्र मजबूत होता है।

नींबू और अदरक का सेवन करें

इस दौरान इम्यूनिटी मजबूत बनाएं रखने के लिए डेली डाइट में नींबू व अदरक शामिल करें। आप इससे काढ़ा, चाय या नींबू पानी आदि बनाकर पी सकती है।

पानी का सेवन करें

मानसून में डिहाइड्रेशन से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें। इससे शरीर में मौजूद गंदगी बाहर निकलती है। साथ ही पाचन तंत्र में सुधार होता है।

उबली व पकी सब्जियों का करें सेवन

मानसून दौरान सब्जियों में वायरस व बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। इसके कारण आंत व पाचन तंत्र पर बुरा असर पड़ता है। ऐसे में इस दौरान कच्ची सब्जियां खाने की जगह उबली व ठीक से पकी सब्जियों का सेवन करें।

भोजन के बाद थोड़ी देर टहलें

अक्सर लोग देर रात डिनर करते हैं और खाने के तुरंत बाद ले जाते हैं। मगर इससे एसिडिटी, ब्लोटिंग आदि की समस्या होने लगती है। ऐसे में इस परेशानी से बचने के लिए खाने के बाद 10-15 मिनट तक टहलें। इससे खाना ठीक से पच जाएगा और सेहत दुरुस्त रहने में मदद मिलेगी।

posted by - दीपिका पाठक